सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

17 नवम्बर: आज ही श्रीराम लोक चले गये थे धर्मरक्षक अशोक सिंघल जी.. उनका उद्घोष आज भी गूँज रहा है आकाश में कि - "सौगंध राम की खाते हैं....."

आज जब अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है, श्रीराम लला का वनवास ख़त्म हो गया है तथा जल्द ही रामलला तंबू से निकलकर मंदिर में विराजमान होंगे.. उस समय सुदर्शन परिवार भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन के सेनापति अशोक सिंहल जी को पुण्यतिथि पर शत-शत नमन करता है, उनको श्रद्धांजलि समर्पित करता है.

Abhay Pratap
  • Nov 17 2021 11:55AM
अशोक सिंहल जी भारतीय राजनीति का वो नाम है जिन्होंने अपने जीवन का हर एक पल तथा अपने शरीर का हर एक कण धर्म को समर्पित कर दिया, हिंदुत्व को समर्पित कर दिया, प्रभु श्रीराम के काज को पूरा करने के लिए समर्पित कर दिया. आज उनकी पुण्यतिथि है .

विहिप के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख स्व. अशोक सिंहल जी ही हिंदुत्व की वो ज्वलंत प्रतिमा थे जिन्होंने अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण की चेतना को जन-जन तक पहुंचाया. तमाम बाधाओं तथा परेशानियों से जूझते हुए अशोक सिंहल जी आजीवन अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए संकल्पित रहे.
 
आज जब अशोक सिंहल जी इस दुनिया में नहीं हैं तब सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला दिया और अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ है, अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर बन रहा है ..निश्चित तौर पर अशोक सिंहल जी भी स्वर्ग से इस ऐतिहासिक पल पर नजरें गढ़ाए हुए होंगे.

उनके तमाम स्वप्न अयोध्या से कश्मीर तक जो देखे गये थे वो एक एक कर के पूरे हो रहे हैं.. धारा 370 को कश्मीर से हटाने की मांग उन्होंने भी कई बार की थी. निश्चित रूप से अशोक सिंहल जी भी स्वर्ग में मुस्कुरा रहे होंगे कि आज उनके सपनों का भारत बनने की राह में है जिसके लिए उन्होंने पूरा जीवन संघर्ष किया.

उनका दिया नारा आज भी गुंजायमान रहता है कि - सौगंध राम की खाते हैं.. हम मन्दिर वहीँ बनायेंगे" .. जिस कार्य के लिए अशोक सिंघल जी ने अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया था, वो कार्य उस समय पूरा हुआ है जब अशोक सिंहल जी हमारे बीच नहीं हैं. 

श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन के नायक अशोक सिंहल जी को आज देश उनकी पुण्यतिथि पर याद कर रहा है और उनके संघर्षों को नमन कर रहा है, जिसके कारण ही श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन की गूँज घर घर तक पहुँची. आम जनमानस इस आन्दोलन से जुड़ा तथा आज लंबे संघर्षों के बाद अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ.

आज जब अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है, श्रीराम लला का वनवास ख़त्म हो गया है तथा जल्द ही रामलला तंबू से निकलकर मंदिर में विराजमान होंगे.. उस समय सुदर्शन परिवार भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन के सेनापति अशोक सिंहल जी को पुण्यतिथि पर शत-शत नमन करता है, उनको श्रद्धांजलि समर्पित करता है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार