सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Tokyo Olympic में भारत पुत्र नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास... जेवलिन थ्रो में Gold Medal जीता

नीरज चोपड़ा ने 87.58 मीटर दूर भाला फेंक गोल्ड मेडल जीता. नीरज एथलेटिक्स में ओलंपिक मेडल जीते वाले पहले भारतीय हैं.

Abhay Pratap
  • Aug 7 2021 5:48PM

भारत के स्टार जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने Tokyo Olympics 2020 में गोल्ड मेडल  जीत इतिहास रच दिया है. नीरज चोपड़ा एथलेटिक्स में ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. नीरज चोपड़ा ने फाइनल मुकाबले में 87.58 मीटर दूर भाला फेंक गोल्ड मेडल जीता. नीरज चोपड़ा ने अपने दूसरे थ्रो में ही ये दूरी तय की. नीरज चोपड़ा ने पहले थ्रो में ही 87.03 की दूरी तय कर नंबर 1 पर जगह बना ली थी लेकिन इसके बाद उन्होंने अगले थ्रो में अपना प्रदर्शन और बेहतर किया तथा गोल्ड जीतकर हिंदुस्तान को गर्वित कर दिया.

नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर भाला फेंका जो कि सोने का तमगा हासिल करने के लिये पर्याप्त था. यह ओलंपिक एथलेटिक्स में भारत का पहला गोल्ड है. इससे उन्होंने भारत का एथलेटिक्स में ओलंपिक पदक जीतने का पिछले 100 साल से भी अधिक का इंतजार समाप्त कर दिया. नीरज ने इससे पहले क्वालीफाइंग राउंड में भी अपने प्रदर्शन से सनसनी फैला दी थी. उन्होंने टॉप पर रहते हुए पहले ही प्रयास में 86.65 मीटर का थ्रो फेंका था और 83.65 के क्वालीफिकेशन लेवल को आसानी से पार कर लिया था.

नीरज इससे पहले एशियाई खेलों, कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाई चैंपियनशिप में भी गोल्ड मेडल अपने नाम कर चुके हैं और यही वजह है कि पूरा देश की निगाहें उनके ऊपर टिकी हुईं थीं। टोक्यो ओलंपिक में यह भारत का पहला गोल्ड मेडल है. इसी के साथ भारत के 7 पदकों के साथ टोक्यो ओलंपिक में अभियान को समाप्त किया जिसमें एक गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं. भारत का यह ओलंपिक के इतिहास का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इससे पहले भारत ने लंदन ओलंपिक में 6 मेडल हासिल किए थे.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार