सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

कंगना रनौत ने सरकार से करण जौहर की पद्म श्री वापस लेने का किया अनुरोध.

अभिनेत्री ने करण जौहर पर एक अंतरराष्ट्रीय मंच पर उसे डराने, सुशांत सिंह राजपूत के खिलाफ साजिश रचने और अपने करियर को नष्ट करने और सशस्त्र बलों के खिलाफ एक राष्ट्र-विरोधी ’फिल्म बनाने का प्रयास करने का आरोप लगाया।

Entertainment Desk
  • Aug 18 2020 5:26PM
कंगना रनौत ने अपनी टीम के ट्विटर हैंडल के जरिए भारत सरकार से करण जौहर की पद्म श्री को वापस लेने का अनुरोध किया है। अभिनेत्री ने करण जौहर पर एक अंतरराष्ट्रीय मंच पर उसे डराने, सुशांत सिंह राजपूत के खिलाफ साजिश रचने और अपने करियर को नष्ट करने और सशस्त्र बलों के खिलाफ एक राष्ट्र-विरोधी ’फिल्म बनाने का प्रयास करने का आरोप लगाया।

"मैं KJO की पद्मश्री वापस लेने के लिए भारत सरकार से अनुरोध करती हूं, उसने मुझे खुले तौर पर डराया और मुझे एक अंतरराष्ट्रीय मंच पर उद्योग छोड़ने के लिए कहा, सुशांत के करियर में तोड़फोड़ की साजिश रची, उन्होंने उरी लड़ाई में पाकिस्तान का समर्थन किया और अब हमारी सेना के खिलाफ एंटीनेशनल फिल्म"।

कंगना और करण जौहर लंबे समय से चल रहे झगड़े में लगे हुए हैं, जिसकी शुरुआत उन्होंने अपने शो 'कोफी विद करण' के निर्देशक 'नेपोटिज्म का झंडाबरदार' कहकर की थी। सुशांत की मौत के बाद यह बहस फिर से शुरू हो गई क्योंकि कंगना ने दावा किया कि अभिनेता को बॉलीवुड विशेषाधिकार क्लब द्वारा 'अपमानित' किया गया था।

मंगलवार के ट्वीट में पूर्व भारतीय वायु सेना के पायलट गुंजन सक्सेना के शपथपत्र, फ्लाइट लेफ्टिनेंट श्रीविद्या राजन के एक अन्य ट्वीट के हवाले से लिखा गया कि गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल ’के तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है। फिल्म का निर्माण करण के बैनर धर्मा प्रोडक्शंस द्वारा किया गया है और पिछले सप्ताह नेटफ्लिक्स पर आया था।

जब कंगना ने आरोप लगाया कि उसको करण द्वारा 'खुले तौर पर डराया' गया है, तो वह मार्च 2017 में लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में अपनी टिप्पणियों के बारे में बात कर रही थी, इसके तुरंत बाद उन्होंने उसे 'भाई-भतीजावाद का ध्वजवाहक' और 'माफिया' कहा। उन्होंने कहा था कि उन्हें फिल्म उद्योग छोड़ देना चाहिए। 

कंगना ने करण पर सुशांत के करियर में तोड़फोड़ करने के लिए अपने सबसे अच्छे दोस्त आदित्य चोपड़ा के साथ मिलीभगत करने का भी आरोप लगाया है। उसने दावा किया कि करण ने ड्राइव के लिए सुशांत को साइन किया और फिर नेटफ्लिक्स पर फिल्म बनाई, जिसमें दुनिया को यह बताया गया कि वह एक फ्लॉप स्टार ’वाली फिल्म के लिए खरीदार नहीं ढूंढ सकता।
कंगना का यह आरोप कि उरी हमले के बाद करण ने पाकिस्तान का समर्थन किया था, वह अपने अंतिम निर्देशन वाले ऐ दिल है मुश्किल में पाकिस्तानी अभिनेता फवाद खान को कास्ट करने पर आधारित थे। सितंबर 2016 में उरी हमले से पहले जब फिल्म की शूटिंग पूरी हुई थी, तब लोगों ने पाकिस्तानी प्रतिभा को दिखाने के लिए इसके खिलाफ हथियार उठाए थे और इसकी रिलीज पर रोक लगाने की मांग की थी। फिर उन्होंने एक माफी वीडियो जारी किया जिसमें उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तानी कलाकारों के साथ फिर कभी काम नहीं करेंगे।

अंत में, कंगना ने गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल को एक 'राष्ट्रीय-विरोधी फिल्म' कहा, जिसमें पुरुष वायु सेना के अधिकारियों को नकारात्मक रोशनी में दिखाया गया है। इससे पहले, भारतीय वायु सेना ने सेंसर बोर्ड को लिखा, यह कहते हुए कि फिल्म में अनुचित नकारात्मक प्रकाश ’में दिखाया है।


सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

ॐ कंगना रनौत जी एक वीरांगना अभिनेत्री हैं जो भारतमाता की सेवा में अपना जीवन समर्पित कर चुकी हैं, ऐसी नारीशक्ति को मेरा शत-शत नमन |ॐ कारण जौहर एक आतंकवादी है जो सफेदपोश देशद्रोहियों की सांठगाठ से भारतीय चलचित्र में सेंध लगाकर भारतवर्ष के विरुद्ध कार्य कर रहा है |ॐ देशभक्त अभिनेता स्वर्गीय श्री सुशांत सिंह राजपूत की हत्या भी इन्ही वामपंथी आतंकवादियों की देन है |ॐ मैं भारतवर्ष की दिव्य सरकार से निवेदन करता हूँ की ऐसे देशद्रोही करण जौहर को तत्काल मृत्युदंड दिया जाय|ॐभारतमाता की जय |ॐ

  • Guest
  • Aug 19 2020 8:33:27:680AM

संबंधि‍त ख़बरें