सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बिहार: छठ महापर्व पर सभी सिविल सर्जन को स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया पत्र.. कही ये ख़ास बाते

वहीँ कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में सभी आवश्यक प्रोटोकॉल तथा विभाग की ओर से जारी निर्देशों का पालन करने के लिए तैयारी करने कहा गया है। विभाग द्वारा भेजे गए निर्देशों का कठोरता से पालन करने को कहा गया है.

Geeta
  • Oct 30 2021 3:45PM

यूपी और बिहार के लोगो के लिए छठ एक आस्था का पर्व है जिसे बड़े धूम धाम से पूरे देश भर में भी मनाया जाता है. छठ नजदीक ही है जिसका लोग बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं. लोग शहरो से अपने घर की ओर जाने की तैयारियां करने लगे हैं. इसी बीच बिहार में छठ महापर्व को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी सिविल सर्जन को अलर्ट किया गया है।

बता दें कि अपर निदेशक (आपदा प्रबंधन) स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. देवेंद्र कुमार गुप्ता ने राज्य के सभी सिविल सर्जनों को पत्र लिखकर कहा है कि छठ महापर्व इस साल 8 नवंबर से 11 नवंबर तक मनाया जाएगा।

अलर्ट के अनुसार इस मौके पर नदियों, घाटों एवं तालाबों पर छठव्रतियों एवं उनके परिवार के सदस्यों की भारी भीड़ जमा होती है। पिछले वर्षों में राज्य के विभिन्न भागों में छठ पूजा के दौरान लोगों के डूबने, भगदड़ मचने इत्यादि से कई अप्रिय घटनाएं घटी हैं। इसलिए छठ महापर्व के दौरान 8 नवंबर से लेकर 11 नवंबर तक जिलों में पहले से तैयारियां कर ली जाएं।

अलर्ट में कहा गया कि पटना में स्थित नदी एवं नदी घाटों पर या अन्य महत्वपूर्ण घाटों पर चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए चिकित्सा शिविर लगाया जाएगा। सभी शिविरों में डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ की टीम की प्रतिनियुक्ति करने के लिए कहा गया है। एंबुलेंस एवं दवाओं की व्यवस्था करने का भी निर्देश सभी सिविल सर्जनों को दिया गया है।

वहीँ कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में सभी आवश्यक प्रोटोकॉल तथा विभाग की ओर से जारी निर्देशों का पालन करने के लिए तैयारी करने कहा गया है। विभाग द्वारा भेजे गए निर्देशों का कठोरता से पालन करने को कहा गया है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार