सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

ट्रैक्टर रैली हिंसा की घोर निंदा करती हूं, 'यह पूरी तरह से अस्वीकार्य' गणतंत्र दिवस पर केवल तिरंगा ही लाल किले के ऊपर फहराया जाना चाहिए- अभिनेत्री गुल पनाग

जहां एक तरफा गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के अवसर पर देश की सेना अपने शौर्य को प्रदर्शन कर रही थी, तो वहीं दूसरी ओर किसान नेताओं ने दिल्ली में जो हिंसक प्रदर्शन किया उसे पूरे देश ने ही ब्लकि पूरी दुनिया ने देखा है ओर जिसकी हर तरफ घोर निंदा हो रही है।

Ruby Saini
  • Jan 28 2021 1:35PM

जहां एक तरफा गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) के अवसर पर देश की सेना अपने शौर्य को प्रदर्शन कर रही थी,  तो वहीं दूसरी ओर किसान नेताओं ने दिल्ली में जो हिंसक प्रदर्शन किया उसे पूरे देश ने ही ब्लकि पूरी दुनिया ने देखा है ओर जिसकी हर तरफ घोर निंदा हो रही है। जो हस्तियां किसान आंदोलन का समर्थन कर रही थी वे भी अब किसानों के इस हिंसक प्रदर्शन की घोर निंदा कर रहे है। इसी कड़ी में एक नाम भारतीय अभिनेत्री गुल पनाग का भी है गुल पनाग ने इस हिंसा की निंदा की ओर कहा कि यह पूरी तरह से अस्वीकार्य है।

आपको अगर विदित हो तो गुल पनाग उन लोगों में सम्मलित थीं, जिन्होंने शुरुआत में कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में किसानों का समर्थन किया था। ट्रैक्टरों से बैरीकेड्स तोड़ती भीड़, निहंगों के हाथों में खुली तलवारें और दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराते प्रदर्शनकारियों के खिलाफ उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि 'तिरंगे का अनादर नहीं किया जा सकता है। बिल्कुल अस्वीकार्य है। ओर इसकी निंदा की जानी चाहिए।'

आपको बता दे कि उन्होंने कहा कि 'समारोह में अवांछनीय मोड़ है। ओर मैंने तो पहले ही दिन से इस शांतिपूर्ण विरोध का समर्थन किया है, हालांकि यह हिंसक मोड़ निंदनीय है। इस पावन दिन पर  केवल तिरंगे को ही लाल किले के ऊपर फहराया जाना चाहिए।'

वहीं गणतंत्र दिवस (26 जनवरी)  के मौके पर दिल्ली में ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस अब हरकत में आ गई है। दिल्ली पुलिस ने संयुक्त किसान मोर्चा के नेता योगेंद्र यादव, गुरनाम चढ़ूनी और राकेश टिकैत सहित ओर अन्य कई किसान नेताओं के खिलाफ FIR  दर्ज कर लिया है।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की इस FIR में (किसान ट्रैक्टर रैली के संबंध में NOC के उल्लंघन के लिए) किसान नेता दर्शन पाल, राजिंदर सिंह, बलबीर सिंह राजेवाल, बूटा सिंह बुर्जगिल और जोगिंदर सिंह उग्रा के नाम है। FIR में BKU के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का भी नाम है। इनके अलावा योगेंद्र यादव, गुरनाम चढ़ूनी के नाम भी FIR में हैं।

फिलहाल पुलिस हिंसा करने वालों की तालाश में पूरी तरह जुटी है।  CCTV और वीडियो के माध्यम से उपद्रवियों की पहचान करने की  कोशिश की जा रही है। दिल्ली में हुई  इस हिंसा में  तोड़फोड़, पुलिसवालों पर हमले आदि को लेकर  लगभग 22 FIR दर्ज की गई हैं। पुलिस का कहना है कि जिन लोगों ने हालात बिगाड़ने की कोशिश की है उनके खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी। 


सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार