सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अगले 3 माह तक आपको EMI चुकाने से मिल सकती है राहत, RBI बना रहा है ये खास प्लान

फिलहाल जो नियम हैं, उसके अनुसार अगर कोई व्यक्ति या कंपनी लगातार 90 दिनों तक लोन को अदा नहीं करती है, तो उसफिलहाल जो नियम हैं, उसके अनुसार अगर कोई व्यक्ति या कंपनी लगातार 90 दिनों तक लोन को अदा नहीं करती है, तो उसका खाता एनपीए कर दिया जाता है. इससे उक्त व्यक्ति या फिर कंपनी के सीबिल स्कोर पर खराब असर पड़ता है. का खाता एनपीए कर दिया जाता है. इससे उक्त व्यक्ति या फिर कंपनी के सीबिल स्कोर पर खराब असर पड़ता है.

Abhishek Lohia
  • May 19 2020 12:31AM

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को अब 31 मई तक बढ़ा दिया है. ऐसे में अब भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) भी लोन की किस्त को चुकाने के लिए मोराटोरियम को अगले तीन महीनों के लिए बढ़ा सकता है. भारतीय स्टेट बैंक द्वारा जारी की गई एक रिसर्च रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया गया है. मार्च में ही आरबीआई ने तीन महीने के लिए मोराटोरियम की घोषणा की थी. अब एक बार फिर से आरबीआई अगले तीन माह के लिए इसकी घोषणा कर सकता है.

रविवार को बढ़ाया गया था लॉकडाउन
रविवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) ने कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन 4.0 को 31 मई तक कर दिया है. प्रधानमंत्री ने सबसे पहले 24 मार्च को पहले लॉकडाउन की घोषणा की  थी. यह 21 दिनों के लिए था, इसके बाद इसको 3 मई और फिर बाद में 17 मई तक बढ़ाया गया था. मार्च में ही आरबीआई ने तीन महीने के लिए मोराटोरियम की घोषणा की थी. यह 1 मार्च 2020 से लेकर के 31 मई 2020 तक के लिए लागू था. अब जब लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दिया गया है, तो ऐसे में आरबीआई भी जल्द ही मोराटोरियम को बढ़ाने की घोषणा कर सकता है. 

अगस्त तक मिल जाएगी लोन की किस्त भरने से छूट
अगर आरबीआई इस तरह की घोषणा करता है, तो फिर लोगों को लोन की किस्त जमा करने में 31 अगस्त 2020 तक छूट मिल जाएगी. हालांकि इतने दिनों तक किस्त अदा न करने पर भी लोगों को ब्याज देना होगा, क्योंकि आरबीआई ने फिलहाल ब्याज लेने से किसी भी बैंक को मना नहीं किया है.

किस्त जमा करने से सीबिल स्कोर होगा खराब
अभी लोन की किस्त और ब्याज जमा करने से मिली छूट के कारण कई लोग जमा नहीं कर रहे हैं. फिलहाल जो नियम हैं, उसके अनुसार अगर कोई व्यक्ति या कंपनी लगातार 90 दिनों तक लोन को अदा नहीं करती है, तो उसका खाता एनपीए कर दिया जाता है. इससे उक्त व्यक्ति या फिर कंपनी के सीबिल स्कोर पर खराब असर पड़ता है. 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार