सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

"दिल्ली पुलिस हमें भी मारो" के नारे के साथ हजारों का हुजूम इण्डिया गेट की तरफ रवाना.. VHP, करणी सेना और संत सभा इण्डिया गेट रवाना. संतो का अपमान नही सह पा रहा राष्ट्र

दिल्ली पुलिस की बर्बर कार्यवाही के विरोध में पूरे देश में आक्रोश.

सुदर्शन न्यूज़
  • Nov 1 2020 7:06PM
यहां बात साधु-संतों के सम्मान की थी.. यह लड़ाई किसी की व्यक्तिगत लड़ाई नहीं बल्कि देश में आए दिन लव जिहादियों का शिकार बन रही बहन बेटियों की सुरक्षा और मान सम्मान से जुड़ी थी। इसमें किसी प्रकार की हिंसा शोर-शराबा भी नहीं हो रहा था बल्कि उसका नाम ही था जनता मार्च. 

लेकिन अचानक ही इस पूरे मामले में एक मुस्लिम अधिकारी, जो कि दिल्ली पुलिस में तैनात है, उसकी एंट्री होती है और माहौल बदल जाता है। साधु-संतों के ऊपर हमले के साथ में जनता मार्च में शामिल महिलाओं से ही साथ बदसलूकी की जाती है और अफरा-तफरी मचाने का प्रयास किया जाता है.

इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस में वह बर्बर रूप दिखाया कि लोग समझ ही नहीं पाए यह हमला पुलिस द्वारा किया गया है या आतंकियों द्वारा ? कहना गलत नहीं होगा कि यह भी साजिश संभव थी कि भगदड़ मचा कर कुछ लोगों को गंभीर हानि पहुंचाई जाय.

दुस्साहस की हद तो ये थी कि जनता मार्च में शामिल संतो के पकड़ कर उनकी गर्दनो तक हाथ डाले गये और उनकी रुद्राक्ष की माला को तोड़ा गया. भगवा वस्त्रो के ऊपर चमड़े के बूट चले. इस अत्यचार की जानकारी जैसे ही देश भर में हुई तो राष्ट्रवादी व हिंदू संगठनों में गुस्से की लहर दौड़ गयी .. 

लव जिहाद से पहले से ही आहत लोगों का आक्रोश सातवें आसमान पर पहुंच कर. उन्होंने "दिल्ली पुलिस हमें भी मारो का नारा" लगाते हुए दिल्ली की तरफ कूच कर दिया. अपनी महिलाओं व संत समाज के साथ हुई नीचता से आहत होकर हजारों लोग इंडिया गेट की तरफ प्रस्थान कर चुके हैं.

इसमें करणी सेना, विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल के साथ संत समाज से जुड़े कई लोग शामिल हैं. लोगों के समझ के बाहर की बात है कि इस शासन में भी ऐसा अत्याचार किसके इशारे पर और क्यों किया गया पुलिस फिलहाल जनता मार्च अभी भी जारी है.. 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार