सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

जल्द से जल्द जाति प्रमाण पत्र से पूर्व पाकिस्तानी शब्द नहीं हटा तो करेंगे आत्मदाह

पिछले कई सालों से बंगाली समाज के जनप्रतिनिधियों से लेकर आम लोग सड़क पर उतरकर कई बार धरना प्रदर्शन से लेकर आंदोलन तक किया

Krishna Kumar
  • Aug 22 2020 6:49PM

बंगाली समुदाय के जाति प्रमाण पत्र पर पूर्व पाकिस्तानी शब्द लिखकर आ रहा जिसको हटाने के लिए पिछले कई सालों से बंगाली समाज के जनप्रतिनिधियों से लेकर आम लोग सड़क पर उतरकर कई बार धरना प्रदर्शन से लेकर आंदोलन तक किया लेकिन कोई भी परिणाम अभी तक नही आया लेकिन कुछ दिन पहले सांसद अजय भट्ट द्वारा लोकसभा में यह समस्या उठाई गई थी जिसके बाद जाति प्रमाण पत्र से पूर्व पाकिस्तानी शब्द हटाने की बात की गई थी जिसके बाद तमाम बंगाली समुदाय के भाजपा नेताओं द्वारा खुशियां मनाते हुए एक दूसरे को बधाई देते हुए मिठाइयां वितरण किया साथ ही सांसद अजय भट्ट का सम्मान करते हुए धन्यवाद किया लेकिन जब वास्तविकता में बंगाली समुदाय के युवा जाति प्रमाण पत्र बनाने तहसील पहुंचे तो पता लगा पूर्व पाकिस्तानी बांग्लादेशी शब्द नहीं हटा जिसके बाद से बंगाली समुदाय के लोगों में  सरकार के प्रति  खासा नाराजगी है तो वही बंगोभाषी महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि भारत सरकार द्वारा लगभग 60 , 65 साल पहले हमारे पूर्वजो को बांग्लादेश से तत्कालीन उत्तर प्रदेश में बसाया गया जो कि अब उत्तराखंड हैं और कहा कि हमारा जन्म भारत में हुआ है तो हमारे जाति प्रमाण पत्र पर पूर्व पाकिस्तानी शब्द क्यों लिखा आ रहा है अगर जल्द से जल्द हमारे जाति प्रमाण पत्र से पूर्व पाकिस्तानी शब्द नहीं हटता तो हम निश्चित तौर पर उत्तराखंड के विधानसभा भवन के आगे आत्मदाह करने को विवश होंगे और उसकी सारी की सारी जिम्मेदारी उत्तराखंड सरकार की होगी क्योंकि पूर्ण रूप से भाजपा के नेताओं द्वारा बंगालियों को बेवकूफ बनाया जा रहा है !

और कहा कि बंगाली समाज के जाति प्रमाण पत्र में पूर्वी पाकिस्तान बांग्लादेशी विस्थापित शब्द लिखकर आ रहा है जोकि घोर निंदनीय है और हम घोर निंदा करते हैं और इस संदर्भ में कई बार प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया लेकिन पिछले सरकार बोलो या वर्तमान सरकार हो सबने केवल हमें कोरा आश्वासन दिया है इसके सिवा कुछ नहीं जब सवाल किया गया कि भाजपा के नेताओं द्वारा पूर्व पाकिस्तानी शब्द हटाने की खुशी में एक दूसरे को बधाई देते हुए मिठाई वितरण किया गया था उस समय क्या हुआ था तो उन्होंने जबाव देते हुए कहा कि कुछ नेताओं द्वारा इस तरह की बातें कही जा रही हैं इसमें सच्चाई कोई नहीं है इसका कोई जिओ अबतक जारी नहीं हुआ है अगर ऐसा कुछ होता तो अभी भी हमारे जाति प्रमाण पत्र पर पूर्व पाकिस्तानी शब्द लिखकर नहीं आता

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार