सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

इस बार हिंदुओं का धर्मस्थल पूज्य गुरुओं के पंजाब में आया निशाने पर..क्या हिंदुओं के कैप्टन नहीं अमरिंदर ?

जो करने में नाकाम रही कैप्टन सरकार , वो कर दिखाया हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओ ने।

Shiv Kumar
  • Apr 8 2021 7:00PM
जिहादी तत्वों को जब भी मौका मिलता है वे हिन्दू समाज की आस्था को ठेस पहुंचाने में कोई भी कसर नहीं छोड़ते हैं। ऐसा ही एक मौंका पंजाब की कैप्टन सरकार दे रही थी जिसपर अगर हिन्दू संगठन के कार्यकर्ता समय रहते नहीं पहुंचते तो जिहादी अपने नापाक इरादों को अंजाम दे चुके होते। 

दरअसल जालंधर स्थित दानिशमंदा इलाके में सथ्थ शमशान घाट में बने प्राचीन शिव मंदिर को जिहादी तत्त्व  jcb के सहारे तोड़ रहे थे , जिहदिओ की jcb मंदिर में मौजूद मूर्ती से भी टकरा गयी थी जिस से वे खंडित हो गयी थीं।  जैसे ही हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओ को ये खबर लगी वे तुरंत मौके पर पहुंच गए और इस कार्य को रोक दिया। 

संगठन के कार्यकर्ताओ का आरोप है कि उनकी धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है और इसके खिलाफ सख्त करवाई होनी चाहिए। जब विरोध ज़्यादा बढ़ने लगा तो पुलिस और dcp ने हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओ के विरोध प्रदर्शन को रोका। साथ ही में dcp ने कड़ी से कड़ी कारवाही करने का वचन दिया।  

सवाल ये है कि विशेष समुदाय के धर्म के ठेकेदार ओवैसी को यहाँ पर धर्म पर हो रहे प्रहार नज़र नहीं आ रहे हैं और ना ही पंजाब कैप्टन सरकार को हो रहे इस कार्य से कोई आपत्ति होती नज़र आयी। यह घटना यह दर्शाती है कि कांग्रेस की कैप्टन सरकार एवं विशेष समुदाय के आतंकित लोगों में कोई खास अंतर नहीं हैं। क्योंकि एक मंदिर तोड़ रहा है और दूसरा सिर्फ देख रहा है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार