सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

FactCheck- Emotion और Law के बीच का टकराव है सोनभद्र अनपरा मामला जिसमे वायरल हो रहा एक वीडियो

जानिये पूरा जमीनी सच सोनभद्र के अनपरा मामले में जिसमे चर्चा में है सियाचीन का एक विडियो.

Rahul Pandey
  • Jun 12 2020 6:48PM

अचानक ही एक बार फिर से सोनभद्र जिला चर्चा में आ गया है. एक बार फिर से इस मामले में जमीनी विवाद ही मुख्य विषय बना हुआ है. इस मामले में इस बार एक सैनिक केंद्र बना हुआ है जिसका विडियो सोशल मीडिया से वायरल होते हुए राजनैतिक गलियारों तक पहुच गया है. इस पूरे मामले में समाजवादी पार्टी की इंट्री ने इस को हवा दी और धीरे धीरे ये मुद्दा प्रादेशिक चर्चा का विषय बन गया. सियाचीन में तैनात सैनिक का विडियो वर्तमान समय में चीन के साथ चल रही भारत की तनातनी के कारण और ज्यदा तूल पकड़ लिया है.. इस विडियो में सैनिक ने बाकायदा वर्दी पहन कर पुलिस पर आरोप लगाया है.

शुरुआत में भावनत्मक रूप से सेना से लगाव होने के नाते ये वीडियो पुलिस के विरोध में चला गया और हर तरफ पुलिस का खिलाफ माहौल जैसा बन गया .. जब इस मामले की जमीनी पड़ताल की गई तो सामने इसका असल सच निकल कर आया है. ये विषय है मूल रूप से २ परिवारों के विवाद का जिसमे पहला परिवार है राय परिवार जिस परिवार से सैनिक राधा रमण जी सियाचीन में तैनात हैं , इसी मामले में दूसरा पक्ष विश्वकर्मा परिवार है. इन दोनों परिवारों का एक सरकारी जमीन पर कब्जे को ले कर विवाद है . असल में इस पूरे मामले में ही विवाद का मूल जमीन है जिसकी असल जिम्मेदारी जिला राजस्व इत्यादि विभागों से जुडी होती है. 

सबसे ज्यादा गौर करने योग्य है कि सोनभद्र पुलिस का कोरोना काल में किया गया कार्य संभवतः प्रदेश में सबसे ज्यादा सरहानीय रहा है जिसमे इस मामले से जुड़े इन्स्पेक्टर विजय प्रताप सिंह ने बड़ी भूमिका निभाई है. उनकी कोरोना के साथ स्थानीय अपराध से क्यिया संघर्ष सोनभद्र के तमाम जनमानस के मुह से आराम से सुना जा सकता है. खैर मूल मामले पर आते हैं .पुलिस ने इस मामले में बढ़ कर शुरू से ही अन्य विभागों की सक्रियता न होने पर भी अपनी जिम्मेदारी बाखूबी निभाई और दोनों पक्षों के बीच कभी बड़ा टकराव नहीं होने दिया. यद्दपि दोनों त्द्र्फ़ से जोर आजमाइश चलती रही.

मामला पुराना है ये, सोनभद्र में कुछ समय पहले भूमि विवाद में हुई फजीहत के बाद जिला प्रशासन ने इसको क्यों लटका कर रखा ये यकीनन हैरान करने वाला विषय है. फिलहाल आगे इस मामले में राय परिवार एक अन्य अन्य युवक के नशे आदि में डूबे रहने की बात सामने आई है जिस को चोरी के एक आरोप में पुलिस ने लम्बे समय से पूछताछ के लिए बुलाया था. जब युवक नहीं आया तो उसके पिता से जानकारी ली गई तो उनके पिता भी लम्बे समय तक थाने नहीं गए. इसी बीच लॉक डाउन लग गया और मामला टलता चला गया. जब स्थिति कुछ सामान्य हुई तो पुलिस मामले को निस्तारित करने की दिशा में फिर आगे बढ़ी.

लम्बितविवेचना को जल्द निस्तारित करना हर थाने व् पुलिसकर्मी को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया गया है. चोरी में वांछित राय परिवार का वो युवक जब हाथ नहीं आया तब पुलिस ने उसकी तलाश में दबिश आदि देनी शुरू कर दी.. इसी के बाद इस वीडियो ने मामले को एक नया मोड़ दे दिया है. स्वयं स्थानीय थाना प्रभारी और जिला पुलिस अधीक्षक सेना और सैनिको के प्रति अथाह सम्मान रखते हैं लेकिन अगर इस मामले की मूल जड में जायेंगे तो ये विषय भावना और क़ानून के टकराव का ही है.. फिलहाल पुलिस ने अपनी जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी है. न सिर्फ आरोपित पुलिसकर्मी बल्कि स्थानीय जनता को भी आशा है कि भावना इत्यादि के साथ साथ वो न्याय होगा जो कानूनी रूप से सही होगा .. उम्मीद उस कार्यवाही की है जिस से किसी के साथ भी अन्याय न हो , न ही देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले व न ही देश की आंतरिक सुरक्षा सम्भाले वर्दी वालों के साथ. 

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार