सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Fact Check- क्या सच मे मस्जिद वाली जमीन पर बनेगा अस्पताल ? या वामपंथियों की ये बातें सिर्फ हिन्दू मंदिरों के लिए हैं ?

अयोध्या में मस्जिद के लिए मिली जमीन पर क्या होगा ? जानिए सच .

Rahul Pandey
  • Aug 8 2020 1:29PM
जब भगवान श्री राम का मंदिर बनने के लिए लगातार कई दशकों तक कोर्ट में जद्दोजहद चल रही थी तब वामपंथी वर्ग तमाम मीठी और चिकनी चुपड़ी बातों से कभी वहां पर हॉस्पिटल तो कभी वहां पर विद्यालय खोलने की बात कर रहा था। सो कॉल्ड मॉडर्न समाज के लोग भी इसमें बढ़-चढ़कर के हामी भर रहे थे जिन्हें बिना पूरी जानकारी के सेकुलर बनने का भूत सवार था। लेकिन जब मामला हत्यारे और लुटेरे बाबर के नाम पर बनने वाली मस्जिद का आया तब छा गई हर तरफ से एक स्याह खामोशी।

इस बीच में सोशल मीडिया पर एक बड़ी चर्चा छिड़ गई की उस स्थान पर बाबरी अस्पताल बन सकता है जिसमें डॉक्टर के तौर पर गोरखपुर में बच्चों के हत्यारों के रूप में जेल काटने वाले और सीएए - एनआरसी केस में भी जिहादी रूप दिखाने वाले तथाकथित डॉक्टर कफील खान मुख्य रूप से कर्ताधर्ता होंगे। इतना ही नहीं बाकायदा उस अस्पताल की फोटो भी वायरल होने लगी और हर तरफ चर्चा छिड़ गई कि शायद मुस्लिम पक्ष इस मामले में बड़ा दिल दिखाएं। जब सुदर्शन न्यूज़ ने इस मामले की पड़ताल करनी चाही तो सच निकल कर सामने आया।

कुल मिलाकर के अंतिम निष्कर्ष के रूप में सामने आ रहा है जी इस प्रकार की किसी भी बात का कोई आधार नहीं है और यह सोशल मीडिया पर उड़ रही है एक अफवाह है।सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही बाबरी हॉस्पिटल की खबर झूठी है। इस खबर का खंडन खुद सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड ने किया है। बोर्ड ने कहा कि सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड ने मस्जिद के लिए रौनाही के धनीपुर गांव में मिली ज़मीन पर बाबरी हॉस्पिटल बनाने और उसका इंचार्ज डा कफील को बनाने जैसा कोई निर्णय नहीं लिया है। सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड ने मीडिया को इस आशय की जानकारी भी दी कि इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन की तरफ से मीडिया में बयान देने के लिए सिर्फ सचिव /प्रवक्ता अथर हुसैन को ही अधिकृत किया गया है। और इस मामले में गौर करने योग्य यह भी है कि बाबरी अस्पताल के नाम से वायरल हो रही तस्वीर असल मे अमेरिका के वर्जीनिया (Virginia) प्रांत के चार्लोट्सविले (Charlottesville) में स्थित वर्जीनिया अस्पताल की है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार