सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

बीसीसीआई बनाम बिहार क्रिकेट संघ मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को भारत के मुख्य न्यायाधीश एस.ए. बोब्डे और न्यायाधीश एल.नागेश्वर की पीठ बीसीसीआई बनाम बिहार क्रिकेट संघ (बीसीए) मामले की सुनवाई करेगी.

Namit Tyagi , twitter @NamitTyagi1
  • Jul 22 2020 9:11AM
देश की सर्वोच्च अदालत यानि सुप्रीम कोर्ट में आज भारत के मुख्य न्यायाधीश एस.ए. बोब्डे और न्यायाधीश एल.नागेश्वर की पीठ बीसीसीआई बनाम बिहार क्रिकेट संघ (बीसीए) मामले की सुनवाई करेगी। बीसीसीआई के एक अधिकारी के मुताबिक कुछ अपीले लंबित पड़ी हैं, जिन पर सुनवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा था कि “मामले की सुनवाई बुधवार को यानि आज होनी है और कुछ अपीले हैं जो लंबित पड़ी हैं।” बीसीसीआई के नए संविधान के मुताबिक, यह जरूरी है कि बोर्ड किसी भी सुधार के लिए सर्वोच्च अदालत के पास जाए। इम सबके बीच सवाल ये कि आखिर सुप्रीम कोर्ट क्या फैसला सुनायेगी

आपको बता दे कि अधिकारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के सामने राष्ट्रीय हित के तमाम मुद्दे होते हैं और ऐसे में यह बात समझ में आती है के खेल प्राथमिकता नहीं रह जाता। ऐसी स्थिति में जहां आवश्यकता या चुनौती के लिए सुधार जरूरी हो, यह संगठन के लिए काफी मुश्किल हो जाता है और फिर खेल अपना महत्व खो देता है। ऐसे में जरूरी है कि सुधारों के लिए साधारण प्रक्रिया का पालन किया जाए, जिससे यह संविधान को एक शक्ति दे जो पूरे विश्व की खेल संस्थाओं के पास है।इन सबके बीच आपको बता दे कि बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली का कार्यकाल 27 जुलाई को खत्म हो रहा है। वहीं सचिव जय शाह को भी राहत मिलने की उम्मीद है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड के संविधान के अनुसार, कोई भी पदाधिकारी राज्य संघ या बीसीसीआइ या दोनों को मिलाकर लगातार छह वर्ष तक ही पद पर रह सकता है। गांगुली बीसीसीआइ अध्यक्ष बनने से पहले 2015 से 2019 तक बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इससे पहले वह 2014 में कैब के संयुक्त सचिव भी रहे हैं। गांगुली ने अक्टूबर 2019 में बीसीसीआइ अध्यक्ष का पदभार संभाला था। अब सबको इंतज़ार है कोर्ट के फैसले का।


ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार