सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे होने पर पढ़िए किसने क्या कहा: 10 पॉइंट्स

शाह ने कहा, 'मोदी जी ने इन 6 वर्षों के कार्यकाल में न सिर्फ कई ऐतिहासिक गलतियों को सुधारा है बल्कि 6 दशक की खाई को पाट कर विकासपथ पर अग्रसर एक आत्मनिर्भर भारत की नींव भी रखी है. यह 6 वर्ष का कार्यकाल ‘गरीब कल्याण व रिफ़ार्म' के समांतर समन्वय की एक अभूतपूर्व मिसाल है.'

Abhishek Lohia
  • May 30 2020 3:40PM

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला वर्ष पूरा होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को शनिवार को बधाई दी है. शाह ने आज सुबह किए अपने ट्वीट में लिखा- 'ऐतिहासिक उपलब्धियों से परिपूर्ण मोदी 2.0 के एक वर्ष के सफल कार्यकाल पर देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को हृदयपूर्वक बधाई देता हूं. मुझे पूर्ण विश्वास है कि आपके दूरदर्शी व निर्णायक नेतृत्व में भारत ऐसे ही निरंतर प्रगतिशील रहेगा. 

शाह ने आगे कहा, 'मोदी जी ने इन 6 वर्षों के कार्यकाल में न सिर्फ कई ऐतिहासिक गलतियों को सुधारा है बल्कि 6 दशक की खाई को पाट कर विकासपथ पर अग्रसर एक आत्मनिर्भर भारत की नींव भी रखी है. यह 6 वर्ष का कार्यकाल ‘गरीब कल्याण व रिफ़ार्म' के समांतर समन्वय की एक अभूतपूर्व मिसाल है.'

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर देश की जनता के नाम चिट्ठी (PM Narendra Modi's letter to nation) लिखी है. कोरोना संकट के दौर में  पीएम मोदी ने देशवासियों की हिम्मत बढ़ाते हुए कहा है कि हमें यह हमेशा याद रखना है कि 130 करोड़ भारतीयों का वर्तमान और भविष्य कोई आपदा या कोई विपत्ति तय नहीं कर सकती. हम अपना वर्तमान भी खुद तय करेंगे और अपना भविष्य भी. हम आगे बढ़ेंगे, हम प्रगति पथ पर दौड़ेंगे, हम विजयी होंगे. 

10 Points

1)  मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे होने पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रेस कांफ्रेंस कर पार्टी और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के प्रथम वर्ष में बहुत निर्णायक फैसले लिए गए हैं. जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 और 35-ए को निरस्त करना प्रधानमंत्री मोदी की इच्छाशक्ति का नतीजा था. इस कार्य के सूत्रधार गृहमंत्री अमित शाह बने.

2) नड्डा ने कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में मोदी सरकार की सफलता का जिक्र किया. उन्होंने कहा, “आज हम जब एक साल पूरा कर रहे हैं तो पूरा विश्व कोरोना के साये में है. अन्य देशों के मुकाबले भारत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ लड़ाई इस तरह लड़ी जिससे भारत की स्थिति संभली हुई है.

3) नड्डा ने कहा कि लॉकडाउन के समय भारत की कोरोना टेस्ट की क्षमता सिर्फ 10,000 टेस्ट प्रतिदिन थी और आज ये क्षमता 1.60 लाख टेस्ट प्रतिदिन है. आज देश में करीब 4.50 लाख पीपीई किट्स प्रतिदिन देश में बन रहे हैं. करीब 58,000 वेंटिलेटर्स देश में बन रहे हैं.

4) रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “जब दोबारा सरकार बनी तो अनेक ऐसे निर्णय लिए गए जो भाजपा के वैचारिक अधिष्‍ठान की विश्‍वसनीयता के आधार थे. उन्‍हें साहस और दृढ़ता के साथ मोदी जी ने मुकाम तक पहुंचाया. यह हमारे लिए विश्‍वसनीयता की कसौटी थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस कसौटी पर सौ फीसदी खरे उतरे हैं.”

5) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, आपने जो समय रहते Lockdown का फैसला किया, उससे COVID19 से लड़ने के लिए देश-प्रदेश तैयार हो सका. आपके इस दूरदर्शी फैसले ने हजारों अनमोल जिंदगियों को बचा लिया. आपके सक्षम नेतृत्व को पाकर देश धन्य हुआ. आपका अभिनंदन!”

6) रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार (Modi Government 2.o) पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो अपनी साधारण पृष्ठभूमित की तो बार-बार बात करते हैं, लेकिन उनके कार्यकाल ने ये साबित कर दिया कि उन्हें जनमानस की तकलीफों से कोई सरोकार नहीं है. सुरजेवाला ने कहा कि इससे ज्यादा चिंता की बात तो ये है कि उनमें आम लोगों के प्रति जिम्मेदारी व जवाबदेही का पूर्णत: अभाव है. कांग्रेस ने इस मौके पर मोदी सरकार की छह भ्रांतियां गिनाईं.

7) बसपा मुखिया ने कहा कि "केन्द्र सरकार को अपनी नीतियों व कार्यशैली के बारे में खुले मन से जरूर समीक्षा करनी चाहिए और जहां पर इनकी कमियां रहीं हैं, उनपर इनको पर्दा डालने की बजाय, उन्हें दूर करना चाहिए। बहुजन समाज पार्टी की इनको देश व जनहित में यही सलाह है।"

8) ठीक एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत शपथ ग्रहण करने के साथ से की और पहली वर्षगांठ पूरा होने पर उन्होंने देश की जनता को खत लिखा. 

9) इस दौरान दिल्ली, झारखंड, महाराष्ट्र और कर्नाटक में चुनाव हुए और जहां महाराष्ट्र और कर्नाटक छोड़ दोनों जगहों पर पार्टी को हार का सामना करना पड़ा. वहीँ महाराष्ट्र में बीजेपी बड़ी पार्टी बनकर उभरी लेकिन लाख कोशिशों के बाद सरकार नहीं बना पाई. कर्नाटक में येदियुरप्पा की सरकार बनी. इस बीच मध्य प्रदेश में कमलनाथ की सरकार गिर गई और मध्य प्रदेश में एक बार फिर मामा यानी शिवराज सिंह मुख्यमंत्री बन गए हैं. 

10) मोदी सरकार में गृहमंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन बिल पेश किया जिसके मुताबिक बांग्लादेश और पाकिस्तान में ऐसे अल्पसंख्यकों जिनके ऊपर धर्म के आधार पर अत्याचार हुआ है उनके देश में नागरिकता दी जाएगी. 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार