सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

विदेशो में फंसे देशवासियों को वापस लाने का मिशन है "वन्देमातरम"

मलेशिया, ब्रिटेन ओर अमेरिका से भारतीयों को लाने के लिए अलग अलग एजेंसियों वाले अभियान का नाम ‘‘वंदे भारत मिशन दिया गया गया l

Sudarshan News
  • May 7 2020 12:20PM

वंदे भारत मिशन से होगी परदेश मे फंसे देश वासियों की घर वापसी, इन लोगों को दी जाएगी प्राथमिकता.. दुनिया के अलग अलग हिस्सों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भारत सरकार ने मंगलवार को ‘वंदे भारत मिशन’ की घोषणा की है l सरकार ने देश के बाहर फंसे भारतीयों एवं प्रवासी भारतीयों की वापसी तथा भारत में रह रहे उन व्यक्तियों के लिए मंगलवार को मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) जारी की जो अत्यावश्यक कारणों से विदेश की यात्रा करने के इच्छुक हैं. इसके जरिए सात मई से एअर इंडिया की 64 उड़ानों का परिचालन होगा तथा नौसेना के दो पोत भारतीयों को वापस लाने में लगाए जाएंगे l

मलेशिया, ब्रिटेन ओर अमेरिका से भारतीयों को लाने के लिए अलग अलग एजेंसियों वाले अभियान का नाम ‘‘वंदे भारत मिशन दिया गया गया l इसके जरिये सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया द्वारा 13 मई तक गैर-अनुसूचित वाणिज्यिक उड़ानों का परिचालन किया जाएगा और 12 देशों से करीब 15 हजार भारतीयों को वापस लाया जाएगा l केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला कहते हैं कि विदेश से लौटने के लिए ऐसे मामलों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां लोग संकट में हैं l उनमें नौकरी से निकाले जा चुके प्रवासी कामगार और वे लोग भी शामिल हैं जिनकी अल्पावधि वीजा की समयसीमा खत्म हो चुकी है l

गृह मंत्रालय ने कहा कि आपात चिकित्सा स्थिति वाले व्यक्तियों, गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों तथा परिवार के सदस्य की मौत की वजह से भारत लौटने को इच्छुक लोगों एवं विद्यार्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी तथा यात्रियों को ही यात्रा का भाड़ा देना होगा. भारत ने पहले ही कुछ देशों से भारतीयों समुदाय के लोगों की देश वापसी करा चुकी है l इन देश में शुमार है चीन, जापान, ईरान और इटली l पिछले महीने 2,500 लोगों को वापस ला चुका है। आधिकारिक विज्ञप्त के मुताबिक केवल उन लोगों को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी जिनमें संक्रमण के लक्षण नहीं होंगे और ऐसे लोगों को आरोग्य सेतु ऐप पर पंजीकरण करना होगा।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार