सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Fact Check- क्या सच मे भगोड़े विजय माल्या को किसी भी समय लाया जा सकता है भारत ? या ये है महज एक अफवाह ?

सोशल मीडिया से ले कर कुछ नेशनल पोर्टलों पर चल रही है खबरें।

Sudarshan News
  • Jun 4 2020 9:47AM

कल शाम से अचानक ही एक खबर ने सोशल मीडिया के साथ नेशनल मीडिया में भी बड़ी जगह पाली और यह बताया जाने लगा कि विजय माल्या किसी भी वक्त भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है। अचानक ही कई बड़े चैनलों से ट्वीट भी आने लगे और फेसबुक पर एक बहस जैसे छड़ गई जिसमें पक्ष और विपक्ष दोनों बन गए। जब सुदर्शन न्यूज़ ने इस पूरे मामले की पड़ताल करनी चाही तब निकल कर कुछ ऐसे फैक्ट सामने आए जो कहीं-कहीं इन तथ्यों को सिरे से नकारते दिखे।

विदित हो कि सोशल मीडिया पर चल रही खबरों को विदेश मंत्रालय के द्वारा परोक्ष रूप से नकार दिया गया है और यह बताया गया है कि विजय माल्या के प्रत्यर्पण की चल रही ऐसी खबरें कहीं न कहीं सत्यता से पूरी तरह से परे है.. शराब कारोबारी और भगोड़े विजय माल्या के किसी भी समय भारत आने की खबरें बुधवार रात को छाई रहीं। अब लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के एक अधिकारी ने इसका खंडन किया है। एक टीवी चैनल ने तो यहां तक दावा कर दिया थाकि माल्या भारत आने के लिए विमान में बैठ गया है। 

इस क्रम में माल्या के निजी सहायक ने मीडिया को बताया कि वह अपने प्रत्यर्पण से संबंधित किसी भी घटनाक्रम से अनजान हैं। उन्होंने बुधवार देर रात कहा-"मुझे आज रात उनके वापस जाने की कोई जानकारी नहीं है।" बुटीक लॉ से माल्या के वकील, आनंद डोबे ने कॉल से नहीं लिया। यह पूछे जाने पर कि क्या बुधवार रात को मीडिया में आई खबरों को सही बताया गया था। भारतीय जांच एजेंसियों ने  भी  रिपोर्ट को खारिज कर दिया है कि विजय माल्या को कभी भी मुंबई लाया जा सकता है.

माल्या 9 हजार करोड़ रुपए के लोन घोटाले में आरोपी है। एसबीआई सहित 17 बैंकों से यह लोन लिया गया था। भारतीय एजेंसियों का शिकंजा कसने के बाद माल्या ने कई बार बैंकों का पैसा लौटाने की भी पेशकश की है। 14 मई को ब्रिटेन में सुप्रीम कोर्ट ने प्रत्यर्पण पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।भारत के बैंकों से पैसा गबन कर 4 साल से फरार शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को को लेकर विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया है।भारत के बैंकों से पैसा गबन कर 4 साल से फरार शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर भारत लंबे समय से प्रयास कर रहा है। इस बीच मीडिया में माल्या को भारत लाए जाने की खबरों के बीच विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि अभी माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर उसके पास कोई सूचना नहीं है।

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार