सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

कूल ड्यूड की कथित संस्कृति को न्यूज़ीलैंड के गौरव शर्मा का स्पष्ट संदेश.. देववाणी संस्कृत गूंजी न्यूजीलैंड की संसद में

न्यूजीलैंड में भारतीय मूल के सांसद गौरव शर्मा ने ली संस्कृत में शपथ, शर्मा ने रचा इतिहास

Sudarshan News
  • Nov 26 2020 4:45PM
न्यूजीलैंड में नवनिर्वाचित युवा सांसदों में से एक डॉ. गौरव शर्मा ने बुधवार को संसद में संस्कृत में शपथ ली। ऐसा करने के साथ ही उन्‍होंने नया इतिहास रच दिया है। वह विदेशी धरती पर संस्कृत में शपथ लेने वाले भारतीय मूल के पहले सांसद बन गए हैं। हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से ताल्‍लुक रखने वाले डॉ. गौरव शर्मा 33 साल के हैं। वह हाल ही में न्यूजीलैंड में हुए चुनाव में लेबर पार्टी से सांसद चुने गए हैं।

न्यूजीलैंड और सामोआ स्थित हाई कमिश्नर मुक्तेश परदेशी ने कहा, सबसे युवा सांसदों में से एक और हाल ही में चुने गए गौरव शर्मा ने आज शपथ ली। पहले न्यूजीलैंड की देसी माओरी भाषा में शपथ ली तो इसके बाद संस्कृत में भी शपथ ली। उन्होंने दोनों देशों की संस्कृति और परंपरा को सम्मान दी है।

गौरव शर्मा ने न्यूजीलैंड की संसद में शपथ ग्रहण के दौरान कहा मैं गौरव शर्मा शपथ लेता हूं कि मैं विश्वासयोग्य रहूंगा और महामहिम महारानी एलिजाबेथ द्वीतीय और उनके उत्तराधिकारियों के प्रति सच्ची निष्ठा रखूंगा। इसलिए ईश्वर मेरी मदद करें।
गौरव शर्मा प्रोफेशन से डॉक्टर शर्मा हमिल्टन वेस्ट में टिम के माकीनडोब को 4,386 वोट से हराया। इससे पहले वह 2017 में भी चुनाव लड़े थे लेकिन सफलता नहीं मिली। वह भारतीय मूल के दूसरे नता हैं जिन्होंने संस्कृत में शपथ ली है। इस साल जुलाई 2016 में पदभार संभालने वाले चंद्रीकाप्रसाद संतोखी ने भी संस्कृत में शपथ ली थी।

गौरव शर्मा से हिंदी में शपथ नहीं लेने को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में डॉ. शर्मा ने कहा, ईमानदारी से कहूं तो मैंने इसके बारे में सोचा था। लेकिन तब इसे पहाड़ी और पंजाबी में करने का प्रश्न था। सबको खुश रखना मुश्किल है। संस्कृत इसलिए अहम है क्योंकि यह सभी भारतीय भाषाओं का सम्मान है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार