सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

UP Elections 2022 में भगवाधारी योगी ही होंगे यूपी के सीएम... गृहमंत्री अमित शाह की घोषणा के बाद समर्थकों में उत्साह

शाह ने कहा कि यह चुनाव भारत माता को विश्व गुरु बनाने का चुनाव है. दीपावली के बाद चुनाव तेजी पकड़ेगा और समर्पण दिखाते हुए चुनावी अभियान में तेजी के साथ जुटें.

Abhay Pratap
  • Oct 29 2021 4:56PM

उत्तर प्रदेश में 2022 चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का चेहरा कौन होगा ?क्या चुनाव के बाद योगी आदित्यनाथ ही सीएम होंगे? इस तरह की तमाम अटकलों पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज फुलस्टॉप लगा दिया है. लखनऊ में अपनी रैली में शाह ने स्पष्ट कहा कि यदि 2024 में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है, तो योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाइए. इस घोषणा के साथ ही अमित शाह ने CM फेस को लेकर पार्टी का रुख स्पष्ट कर दिया है.

गृह मंत्री ने कहा कि योगी ने 90 फीसदी वादे पूरे किए हैं. अपराध पर सख्ती का नतीजा है कि आज यूपी में बाहुबली ढूंढे नहीं मिल रहे. अमित शाह ने भाजपा की तमाम उपलब्धियों को गिनाने के साथ ही केंद्र में 2024 और उत्तर प्रदेश में 2022 का खाका तय कर दिया. शाह ने दो टूक शब्दों में कहा कि यदि वर्ष 2024 में नरेन्द्र मोदी को पीएम बनाना है, तो 2022 में एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाना होगा.

शुक्रवार को लखनऊ के डिफेंस एक्सपो मैदान सेक्टर-17 वृन्दावन योजना स्थित कार्यक्रम स्थल में अमित शाह ने 'मेरा परिवार- भाजपा परिवार' नारे के साथ भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरुआत करने के बाद अवध क्षेत्र के शक्ति केंद्र संयोजक/प्रभारियों को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा के लोग जब कमल का झंडा और नारा लेकर चल पड़ते हैं तो विपक्षी दलों के दिल दहल जाते हैं.

शाह ने कहा कि यह चुनाव भारत माता को विश्व गुरु बनाने का चुनाव है. दीपावली के बाद चुनाव तेजी पकड़ेगा और समर्पण दिखाते हुए चुनावी अभियान में तेजी के साथ जुटें. शाह ने भीड़ से चुनाव में तीन सौ से अधिक सीटें जिताने का वचन लेते हुए कहा, 'मोदी जी को एक और मौका दे दीजिए, योगी जी को एक बार फिर मुख्यमंत्री बना दीजिए, उप्र देश में नंबर एक हो जाएगा.' उन्होंने विधानसभा चुनाव अभियान की शुरुआत करते हुए कहा कि 2014, 2017 और 2019 के चुनाव से पहले सदस्यता अभियान शुरू किया था और 2022 के चुनाव का श्रीगणेश आज के सदस्यता अभियान से कर रहे हैं.

उत्तर प्रदेश के गौरवमयी अतीत और भगवान राम एवं कृष्ण की चर्चा करते हुए शाह ने कहा कि 2017 से पहले उत्तर प्रदेश की पहचान कैसी थी लेकिन 2017 के बाद भाजपा ने उप्र को पहचान दिलाने का कार्य किया और प्रदेश को बहुत आगे ले जाने का कार्य किया. भाजपा ने पहली बार सिद्ध किया कि सरकारें परिवार के लिए नहीं, सूबे के सबसे गरीब से गरीब व्यक्ति के लिए होती हैं.

विपक्षी दलों, विशेष रूप से समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा कि फिर से चुनाव के नगाड़े बज गये हैं और जो घर बैठ गये थे वह नये कपड़े सिलाकर आ गये हैं कि हमारी सरकार बनने जा रही हैं. शाह ने कहा कि मैं अखिलेश से हिसाब मांगता हूं कि पांच साल में आप विदेश कितने दिन रहे, उप्र की जनता को इसका हिसाब दे दीजिए. उन्होंने तंज किया कि इन लोगों ने शासन स्वयं के लिए, परिवार के लिए और ज्यादा से ज्यादा सोच बड़ी हो गई तो अपनी जाति के लिए किया, और किसी के लिए नहीं किया.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार