सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

लाइब्रेरी खुलवाने को लेकर जेएनयू में छात्रों ने की तोड़फोड़

जब सुरक्षाकर्मी नहीं माने तो छात्र जबरन लाइब्रेरी में घुसने लगे और रोकने पर सुरक्षाकर्मियों से भिड़ गए। छात्रों को रोकने के लिए सुरक्षा गार्डों की क्विक रिस्पांस टीम भी मौके पर पहुंची। आरोप है कि छात्रों ने सुरक्षाकर्मियों पर हमला कर​ दिया।

Sudarshan News
  • Jun 11 2021 8:13AM

राजधानी दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के बंद पड़े बीआर अम्बेडकर लाइब्रेरी को खुलवाने के लिए पहुंचा छात्रों का एक समूह सुरक्षाकर्मियों के विरोध के बाद उग्र हो गया। जिसके बाद छात्रों ने न केवल लाइब्रेरी में तोड़फोड़ कीबल्कि वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों के साथ मारपीट भी की। 

इस घटना के बाद स्थानीय वसंतकुंज नॉर्थ थाने में छात्रों के खिलाफ शिकायत दी गई और एफआईआर दर्ज कराया गया। घटना मंगलवार सुबह की हैजब करीब 35 से 40 छात्र लाइब्रेरी पहुंचे और लाइब्रेरी खुलवाने की बात को लेकर सुरक्षाकर्मियों से भिड़ गए। घटना की शिकायत पर स्थानीय पुलिस ने संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई कर रही है।

घटना की पुष्टि करते हुए साउथ-वेस्ट डीसीपी इंगित प्रताप सिंह ने बताया कि सुरक्षाकर्मियों पर हमला करने और तोड़फोड़ करने वाले छात्रों द्वारा कोरोना के नियमों की अनदेखी का आरोप लगने के बाद पुलिस ने महामारी अधिनियम की धारा भी एफआईआर में जोड़ी है। 

इस एफआईआर में पांच छात्रों को नामजद किया गया है। बताया जाता है कि पूरी वारदात घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गईजिसके आधार पर आगे की छानबीन की जा रही है।

गेट तोड़ रातभर लाइब्रेरी पर कब्जे का आरोप...

पुलिस सूत्रों ने बताया कि मंगलवार की सुबह करीब 10.40 बजे के आसपास 35-40 छात्रों का एक समूह जेएनयू की लाइब्रेरी पहुंचा था। दरअसलकोरोना महामारी की वजह से लाइब्रेरी को पिछले कुछ माह से बंद किया गया था। जिसको खुलवाने के लिए छात्रों का एक समूह मंगलवार की सुबह लाइब्रेरी पहुंचा था। गेट पर पहुंचकर जब उन्होंने लाइब्रेरी खोलने को कहा तो सुरक्षाकर्मियों के आदेश नहीं होने का हवाला देते हुए उन्हें रोकने का प्रयास किया। 

जब सुरक्षाकर्मी नहीं माने तो छात्र जबरन लाइब्रेरी में घुसने लगे और रोकने पर सुरक्षाकर्मियों से भिड़ गए। छात्रों को रोकने के लिए सुरक्षा गार्डों की क्विक रिस्पांस टीम भी मौके पर पहुंची। आरोप है कि छात्रों ने सुरक्षाकर्मियों पर हमला कर दिया। 

साथ ही डंडों से हमला कर लाइब्रेरी का गेट और वहां लगे शीशे तोड़ डाले। साथ ही अंदर जबरन घुसकर बैठ गए। छात्रों ने लाइब्रेरी को रातभर में कब्जे में रखा। दूसरे दिन काफी मशक्कत के बाद छात्रों को वहां से निकाला गया। साथ ही घटना की शिकायत स्थानीय पुलिस से की गई। फिलहाल पुलिस ने जेएनयू प्रशासन की शिकायत पर पांच छात्रों रूपेशपवनहर्षितासन्नी दयाल और धापू सोनी को नामजद करते हुए संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया है।

सोशल मीडिया पर लाइब्रेरी खोलने की मांग...

उधरछात्रों ने घटना लेकर सोशल मीडिया पर अभियान छेड़ दिया है और जेएनयू के बी.आर अम्बेडकर लाइब्रेरी को अविलंब खोलने की मांग की है। उनका कहना है कि कोरोना की वजह से जिस लाइब्रेरी को बंद किया गया थाउसे अब खोल देना चाहिए। ताकि छात्रों की पढ़ाई बाधित न हो।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार