सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

न्यूजीलैंड चुनाव में Jacinda Ardern की ऐतिहासिक जीत, देश की सत्ता में रहेंगी बरकरार

प्रधानमंत्री Jacinda Ardern की सेंटर लेफ्ट लेबर पार्टी ने शनिवार को न्यूजीलैंड के सामान्य चुनाव में बड़ी जीत हासिल की है.

Abhishek Lohia
  • Oct 17 2020 6:16PM
प्रधानमंत्री Jacinda Ardern की सेंटर लेफ्ट लेबर पार्टी ने शनिवार को न्यूजीलैंड के सामान्य चुनाव में बड़ी जीत हासिल की है. मतदाताओं ने उन्हें चुनाव में कोविड-19 के खिलाफ उनके निर्णायक जवाब के लिए इनाम दिया है. इससे 40 साल की Ardern दशकों में पहली एक पार्टी की सरकार बना सकती हैं. और उनके सामने अपने प्रगतिशील बदलाव को डिलीवर करने की चुनौती होगी जिसका उन्होंने वादा किया था लेकिन वे अपने पहला कार्यकाल में उन्हें पूरा करने में असफल रही थीं जब लेबर पार्टी की सत्ता में नेशनलिस्ट पार्टी साझेदार थी.

अपने दम पर बना सकती हैं सरकार
वेलिंगटन में विक्टोरिया यूनिवर्सिटी की पॉलिटिकल कमेंटेटर Bryce Edwards ने इसे ऐतिहासिक बदलाव बताया. उन्होंने इस चुनाव को न्यूजीलैंड के चुनाव के इतिहास में सबसे बड़े बदलावों में से एक बताया. लेबर पार्टी देश के संसदीय चुनाव में 120 सीटों में से 64 जीतने की राह पर थी जो 1996 में प्रपोशनल वोटिंग सिस्टम में किसी पार्टी द्वारा प्राप्त सबसे ज्यादा सीटें हैं. अगर लेबर पार्टी आधे से ज्यादा सीटें जीतती है, तो Ardern वर्तमान व्यवस्था के तहत पहली एक पार्टी की सरकार बना सकती हैं.

Ardern ऑकलैंड में अपने घर से बाहर आईं, हाथ हिलाया और जमा हुए समर्थकों को गले भी लगाया. विपक्षी नेशनल पार्टी की नेता Judith Collins ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को फोन करके उनके बेहतरीन नतीजों के लिए बधाई दी है. चुनाव आयोग ने बताया कि लेबर पार्टी के 49.0 फीसदी वोट आए जो नेशनल से बहुत आगे थी जिसके 27 फीसदी वोट रहे. चुनाव में बैलेट में से 77 फीसदी को गिना गया. यह चुनाव बड़े तौर पर Ardern की कोविड-19 पर आक्रामक रिस्पॉन्स को लेकर जनमत संग्रह था.

लेबर पार्टी के एक शीर्ष सांसद और वित्त मंत्री Grant Robertson ने कहा कि लोग बहुत आभारी और बेहद खुश थे कि जिस तरह से उनकी सरकार ने कोविड-19 को जवाब दिया और उन्हें अर्थव्यवस्था के लिए उनके आगे प्लान का भी पसंद आया है जो वे लेकर आये हैं.

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार