सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

यूपी के लिए अगले 10 दिन बेहद चुनौतीपूर्ण, प्रवासी श्रमिकों से संक्रमण का खतरा सबसे ज़्यादा

प्रवासी श्रमिको के आने से संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा, यूपी के ग्रीन जोन वाले जिलो में मरीज मिलने शुरू, अगले 10 दिन में होगी यूपी की तैयारियों की कठिन परीक्षा

रजत मिश्र, उत्तर प्रदेश
  • May 13 2020 9:42AM
उत्तर प्रदेश में तमाम माध्यमों से श्रमिकों/कामगारों के वापस आने का क्रम लगातार जारी है ऐसे में संक्रमण का खतरा भी काफी तेजी से बढ़ रहा है। उत्तर प्रदेश की तैयारियों के लिहाज से आगे आने वाले 10 दिन बेहद चुनौतीपूर्ण होने वाले हैं क्योंकि प्रवासी श्रमिकों से संक्रमण फैलने का खतरा अब सबसे ज्यादा है। कई जनपदों में प्रवासी श्रमिक कोरोना संक्रमित निकले हैं और उसके बाद ग्रीन जोन वाले जनपद भी ऑरेंज जोन में बदल गए। इस लिहाज से खास सतर्कता बरतने की जरूरत भी महसूस हो रही है इसी को ध्यान में रखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बात के निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक प्रवासी श्रमिक/कामगार का मेडिकल चेकअप किया जाए किसी भी हाल में कोई श्रमिक मेडिकल चेकअप हुए बिना अपने घर ना जाए। दरसल उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों को भेजने का अन्य राज्य लगातार दबाव बना रहे हैं सिर्फ दिल्ली से ही साढ़े चार लाख श्रमिक उत्तर प्रदेश आने को आतुर है कई श्रमिकों ने सड़कों पर पैदल चलना शुरू भी कर दिया है। 

ऐसी स्थिति में कोरोना संक्रमण के खतरे की आशंका और बढ़ती है और यदि अगले 10 दिन तक संक्रमण की स्थिति को नियंत्रित कर लिया तो यूपी में कोरोना वायरस नियंत्रण में रहेगा। यूपी में कोरोना के कुल 3664 मरीज है, जिसमें से 1873 मरीज सही होकर घर जा चुके हैं। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण से सही होकर घर वापस जाने वालों का प्रतिशत पूरे देश में सबसे ज्यादा है यूपी में यह 42% से भी ज्यादा मरीज सही होकर घर वापस गए हैं। वही यह वायरस अब तक 82 लोगों की जान भी ले चुका है। वायरस का संक्रमण भी 74 जिलों तक पहुंच चुका है, उत्तर प्रदेश में कुल जिलों की संख्या 75 है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार