सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

मोहम्मद का कार्टून बनाने वाले की हत्या करने वाले को आधी सम्पत्ति देने का एलान करने वाले धर्मनिरपेक्ष बेनी प्रसाद वर्मा के बाद अब उनके बेटे की भी मौत

डेनमार्क में कार्टून बनने के बाद आया था पूर्व सपाई व कांग्रेसी नेता का ये बयान.

Rahul Pandey
  • Jul 2 2020 8:53AM

उस समय की बात है जब डेनमार्क में बने इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद के चित्र पर पूरी दुनिया में कोहराम मचा हुआ था । इसका पूरा आंसर भारत में भी देखने को मिला था और कई जगह पर विरोध प्रदर्शन हुए थे जिसमें कहीं कहीं इसका स्वरूप बेहद हिंसक भी देखने को मिला था। उस समय भारत में एक खास प्रकार के धर्मनिरपेक्षता का बोलबाला था जिसके तमाम बड़े नंबर दार मैं बेनी प्रसाद वर्मा भी शामिल थे जो कभी मुलायम की पार्टी और कभी कांग्रेसमें जाकर मंत्री पद पर सुशोभित हुआ करते थे।।

बेनी प्रसाद वर्मा का मूल कार्य क्षेत्र पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुल जिले थे जिसमें लखनऊ सीतापुर बाराबंकी गोंडा आज जनपद प्रमुख हुआ करते थे। उस समय इन्होंने डेनमार्क मामले में बड़ी बयानबाजी की थी और कहा था कि मोहम्मद का कार्टून बनाने वाले चित्रकार का जो भी कत्ल करेगा उसको वह अपनी आधी संपत्ति दान कर देंगे । यद्यपि गांधी के सिद्धांतों के नाम पर वोट पाने वाले बेनी प्रसाद वर्मा के मुंह से कत्ल जैसे शब्द निकले थे लेकिन उसके बावजूद भी तथाकथित सेकुलर सिद्धांतों के चलते इनको खूब तालियां मिले थे और वाहवाही पाई थी।

लेकिन धीरे-धीरे समय काल परिस्थिति बदली और उन बदले हालातों में बेनी प्रसाद वर्मा का प्रभाव धीरे-धीरे खत्म हुआ। यह वह समय था जब देश जातिवादी राजनीति से ऊपर उठकर हिंदुत्व के नाम पर एक हो चुका था। बेनी प्रसाद वर्मा कुछ समय पहले दुनिया छोड़कर चले गए लेकिन अब उनके निधन के बाद एक और बुरी खबर आ रही है कि उनके पुत्र ने भी प्राण त्याग दिए हैं।

बाराबंकी जनपद से कोविड-19 को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री व दिवंगत सपा नेता बेनी प्रसाद वर्मा के बड़े पुत्र दिनेश वर्मा की यहां कोरोना से मौत हो गयी है। पिछले कई दिनों से दिनेश वर्मा दिल्ली के एस्कार्ट अस्पताल में भर्ती थे। मंगलवार दोपहर को दिनेश वर्मा के निधन की खबर लगते ही समाजवादी पार्टी व बाराबंकी में शोक की लहर दौड़ गयी।

समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष मोहम्मद सबा के मुताबिक दिनेश वर्मा भंडारण निगम में बाबू के पद पर कार्यरत थे। वह लंबे समय से किडनी और लिवर की समस्या से पीड़ित थे। जिसका इलाज भी चल रहा था। हाल ही में दिनेश वर्मा की लखनऊ में कोरोना जांच हुई थी। जिसमें वह पाॅजिटिव पाए गए थे। दिनेश वर्मा का केजीएमयू में इलाज हुआ और रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया था। इसके बाद किडनी व लिवर जांच के लिए दिल्ली के एस्कार्ट पहुंचे दिनेश वर्मा की जांच की गई तो वह कोरोना पाॅजिटिव पाए गए। एस्कार्ट में इलाज के दौरान आज उनकी मौत हो गयी।

बता दें कि इसके पहले 27 मार्च 2020 को दिग्गज सपा नेता बेनी प्रसाद वर्मा का भी निधन हो चुका है। सपा के संस्थापक सदस्य रहे बेनी प्रसाद वर्मा की गिनती दिग्गज नेताओं में होती थी। मुलायम सिंह यादव के बेहद करीब श्री वर्मा यूपीए सरकार में इस्पात मंत्री भी रहे थे। बेनी प्रसाद वर्मा कई साल तक यूपी की सपा सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री रहे हैं. देवेगौड़ा सरकार के दौरान उन्होंने 1996 से 1998 तक केंद्र में संचार मंत्री का पद संभाला. 1998, 1999, 2004 और 2009 में गोंडा से सांसद चुने गए, जबकि यूपीए सरकार के दौरान 12 जुलाई 2011 को इस्पात मंत्री भी बनाए गए.

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

3 Comments

Kya khabar chapte rahte hain jee? Koi gadhe mar jay, kya wo bhi khabar khalayenge? 😏

  • Guest
  • Jul 2 2020 9:54:51:197PM

Sir ji mohamd ka katon banane wale ke Barry mi koch batay

  • Guest
  • Jul 2 2020 6:01:51:717PM

इनके जैसे लोग सांसद थे ये सोच के हंसी आती है

  • Guest
  • Jul 2 2020 12:24:15:917PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार