सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

द्रोणासागर तीर्थ को सवारने की कवायद शुरू

13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत प्राचीन तीर्थ द्रोणसागर को पयर्टन स्थल के रूप में विकसित किये जाने के निर्णय लिया गया था

Krishna Kumar
  • Aug 19 2020 7:29PM

पांडवों की तपोभूमि के नाम से जानी जाने वाले प्राचीन तीर्थ स्थल द्रोणा सागर को संवारने के लिए प्रशासन ने कार्यवाही शुरू कर दी है। जिसके चलते जिलाधिकारी के आदेश के बाद अब उप जिलाधिकारी ने कार्यवाही करनी शुरू कर दी है। स्थानीय प्रशासन ने द्रोणा सागर तीर्थ स्थल का जायजा लिया और द्रोणा सागर को संवारने के लिए रणनीति तैयार की। साथ ही पूर्व में चल रही कमेटी को भी भंग कर दिया गया है।

आपको बताते चलें कि हाल ही में पर्यटन विभाग की महत्वाकांक्षी योजना 13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन के तहत प्राचीन तीर्थ द्रोणसागर को पयर्टन स्थल के रूप में विकसित किये जाने के निर्णय लिया गया था जिसके बाद जिला प्रशासन द्वारा इसकी कार्य योजना तैयार कर डीपीआर बनाये जाने की कवायद शुरू की थी। इसी क्रम में अब जिलाधिकारी के आदेश के बाद अब इस तीर्थ स्थल को काशीपुर एसडीएम के प्रबंधन में दिए जाने की कार्यवाही प्रशासन द्वारा शुरू की गई। एसडीएम गौरव कुमार द्रोणासागर तीर्थ पहुंचे और जायजा लिया। उन्होंने बताया कि तीर्थ स्थल को कब्जे में लेकर पैमाइश की जाएगी साथ ही अतिक्रमणकारियों को हटाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अब कमेटी के रूप में काबिज कार्यकरिणी से समस्त सम्पत्ति प्रशासन द्वारा अपने कब्जे में लिया जाएगा। एसडीएम गौरव कुमार ने द्रोणासागर क्षेत्र के बारे में तहसीलदार विपिन चन्द्र पन्त, कानूनगो से जानकारी ली और इस आशय का बोर्ड लगाने के निर्देश दिये कि उक्त सम्पत्ति अब सरकार के नियंत्रण में है और इसके साथ किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ करने पर कार्यवाही की जायेगी।

वही तीर्थ द्रोणा सागर कमेटी के सचिव सनत कुमार पेगिया ने कहा कि जिलाधिकारी के आदेश अनुसार यहां पर एसडीएम को देखरेख की व्यवस्था के लिए द्रोणा सागर का जिम्मा सौंपा है और जल्द ही इसका काया कल्प होगा। उन्होंने कहा कि यह कहना गलत होगा कि कमेटी भंग की गई है कमेटी भंग नहीं की गई है सिर्फ यहां की व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए द्रोणा सागर का दायित्व एसडीएम को सौंपा गया है। यहां पर समाजिक तत्व का जमावड़ा भी लगा रहता है जिसको लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है आईटीआई थाना प्रभारी कुलदीप अधिकारी ने कहा है कि काफी समय से असामाजिक तत्वों का आने जाने की शिकायत मिल रही है जिसको लेकर सादी वर्दी में पुलिस कर्मियों को चेकिंग के लिए छोड़ गया है। अगर ऐसा कोई भी मामला उनके संज्ञान में आया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी वही स्थानीय जनता का भी कहना है की तीर्थ द्रोणा सागर की कायाकल्प होनी चाहिए यहां पर बड़े-बड़े झाड़ झंकार हो गए हैं जिससे सांप और जहरीले कीड़े निकलने से लोगों में भय व्याप्त है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार