सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

राशन लेने आये अभिषेक के ऊपर कोटेदार जावेद ने थूक दिया और फिर देने लगा मोदी और योगी को भद्दी भद्दी गालियाँ.. फिर UP की अम्बेडकरनगर पुलिस ने जो किया वो और भी बुरा था

ऐसी आशा UP पुलिस से किसी को नहीं थी.

Sudarshan News
  • Apr 27 2020 10:37PM
पिछले कुछ दिनों से ना सिर्फ सोशल मीडिया बल्कि जमीनी रूप में भी जिस नये प्रकार के अपराध की चर्चा सबसे ज्यादा रही है , वह है किसी के ऊपर थूकने की । वर्तमान समय में कोरोना नाम की महामारी से जूझ रहे देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में जिस प्रकार से सतर्कता रखने के निर्देश अलग-अलग देशों की सरकारें वह उनके प्रदेशों की सरकारें अपने-अपने जिले मे जारी व् लागू करा रहे हैं इसके सार्थक परिणाम इस रूप में आ रहे हैं कि कोरोना का असर तेजी से कम हो रहा है। लेकिन इसी बीच सोशल मीडिया पर तमाम वीडियो वायरल हुई जिसमें कुछ लोग कभी फलों पर कभी सब्जियों पर तो कभी नोटों पर थूकते दिखाई दिए.  इस मामले में पुलिस की भी जांच हुई फैक्ट चेक किए गए और कई मामले सही भी निकले जिन पर बाकायदा प्राथमिकी दर्ज कर के कार्यवाही भी हुई....

लेकिन कई मामलों को जान बूझकर कुछ जिलों की पुलिस होने दबाने का भरसक प्रयास किया और जनता को एक बहुत बड़े खतरे से अंजान रखा गया .. उन कुछ जिलों की पुलिस में अगर सबसे ऊपर नाम लिया जाए तो उत्तर प्रदेश के जिला अंबेडकरनगर की पुलिस का नाम जरूर आएगा, जहां पर बाकायदा खुद पर थूकने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराने के बाद भी कार्यवाही तो दूर जिसके ऊपर थूका गया, उसकी मदद करने आए लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया.. है ना हैरान करने वाली बात, लेकिन यह सच है.. ऐसा कर के उत्तर प्रदेश की अम्बेडकरनगर पुलिस ने वहां बहुत बड़े सामजिक असंतोष को पैदा कर दिया है जिसमे जनता का एक वर्ग काफी नाराज व् खुद को ठगा महसूस कर रहा है..

यह मामला है उत्तर प्रदेश के जिला अम्बेडकरनगर , थानाक्षेत्र बसखारी का.  यहां पर क्षेत्रीय भारतीय जनता पार्टी की टांडा विधायक संजू देवी को लगातार काफी समय से अपने क्षेत्र में जावेद नाम के कोटेदार द्वारा न सिर्फ घटतौली की शिकायतें मिल रही थी , बल्कि उसके खिलाफ कई अन्य ऐसे मामले भी सुनाई दे रहे थे जो किसी भी रूप में सभ्यता की निशानी नहीं कही जा सकती.  आखिरकार इस लॉकडाउन व कोरोना नाम की महामारी के समय जनता की पूरी आशा व् उम्मीद स्थानीय विधायक पर थी और स्थानीय विधायक को जब ऐसी महामारी के समय में भी कोटेदार जावेद के कुकृत्यों का पता चला तो उन्होंने अपने प्रतिनिधि श्याम बाबू गुप्ता को जाकर स्थिति देखने के लिए कहा..

श्याम बाबू गुप्ता ने अपने साथ में पारदर्शिता और निष्पक्षता के लिए सप्लाई इंस्पेक्टर को भी लिया और जावेद के कोटे पर पहुंच गए. सप्लाई इंस्पेक्टर व विधायक के प्रतिनिधि का आना अपनी मनमर्जी करने वाले कोटेदार जावेद को बेहद नागवार गुजरा . बतौर श्याम बाबू गुप्ता कोटेदार जावेद ने भीड़ के बीच में भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को भद्दी भद्दी गालियां देनी शुरू की. इतना ही नहीं उसने वहां राशन लेने आये एक ग्राहक अभिषेक के ऊपर थूक दिया.. इस बीच उसका साथ इरफ़ान भी वही था..अपने ऊपर इस प्रकार से थूके जाने से अभिषेक हतप्रभ रह गया और वहां से भागकर अपने लिए मेडिकल इत्यादि का इंतजाम करने लगा.  अभिषेक पर क्यों थूका गया और किस उद्देश्य से थूका गया यह अभी तक अम्बेडकरनगर पुलिस नहीं जान पाई है.. और सच कहा जाए तो जानने का प्रयास भी नहीं किया. साथ ही एकपक्षीय कार्यवाही करती रही.. 

अभिषेक ने बाकायदा अपने ऊपर थूके जाने की वीडियो भी बना कर डाली . इतना ही नहीं, इसकी बाकायदा तहरीर भी दी लेकिन जिला अंबेडकरनगर की पुलिस द्वारा अज्ञात कारणों से थूकने वाले जावेद के विरुद्ध इंचमात्र भी आगे बढ़ कर कार्यवाही नहीं की गई. हैरानी की बात तो ये रही कि मुख्यमंत्री और भारत के प्रधानमन्त्री को गंदी गंदी गाली देने की शिकायत करने के बाद भी जावेद के आगे अम्बेडकरनगर पुलिस का मौन समर्थन रहा.. अम्बेडकरनगर पुलिस की एकतरफा एकपक्षीय कार्यवाही समाज में रोष और असंतोष का कारण बनती जा रही है.. कहना गलत नही होगा कि यह अम्बेडकरनगर पुलिस की कार्यवाही अपने आप में ही एक रहस्य है जो किसी के भी समझ से बाहर है ..अम्बेडकरनगर में जिनमे असंतोष फ़ैल रहा है उन लोगों का मानना है कि ऐसा कर के एक ख़ास वर्ग को संतुष्ट व खुश किया जा रहा है .. इसको सीधे सीधे वहां के तमाम लोग स्थानीय पुलिस प्रशासन द्वारा किये जा रहे तुष्टीकरण की वो नीति बता रहे हैं जो वर्तमान सरकार किसी भी रूप में स्वीकार न करने की बात करती है.

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार