सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

कानपुर वाला विकास दुबे ढेर.. मवेशियों को बचाने के चक्कर मे पलटी कार.. पुलिस विकास को जिंदा रखना चाहती थी..

मवेशियों के झुंड के सामने आने से चालक ने खोया नियंत्रण, विकास ने पुलिस पर चलाई गोलियाँ तब शुरू हुई क्रॉस फायरिंग..

रजत मिश्र, उत्तर प्रदेश, ट्विटर- @rajatkmishra1
  • Jul 10 2020 6:38PM

कानपुर के बिकरू गांव में सीओ समेत 8 पुलिस वालों की हत्या करने वाला गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह एनकाउंटर में मारा गया। यूपी एसटीएफ की टीम उसे उज्जैन से कानपुर ले जा रही थी, लेकिन शहर से 17 किमी पहले सचेंडी थाना क्षेत्र में सुबह 6:30 बजे काफिले की एक गाड़ी पलट गई। विकास उसी में बैठा था। एसटीएफ ने शाम को प्रेस नोट जारी कर बताया कि मवेशियों के सामने आने से गाड़ी पलटी थी। STF के मुताबिक इस दौरान विकास पिस्टल छीनकर भाग निकला। जब उसे पकड़ने की कोशिश की गई तो उसने फायर कर दिया। जवाबी कार्रवाई में वह जख्मी हो गया। तीन गोलियां उसकी छाती में और एक बांह में लगी। घायल विकास को अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। एनकाउंटर में घायल पुलिसकर्मियों का इलाज कानपुर के LLR हॉस्पिटल में चल रहा है।

STF ने प्रेस नोट जारी करके बताई पूरी कहानी- 

स्टाफ ने प्रेस नोट जारी करके बताया कि कानपुर के पास मवेशियों का झुंड सामने आ गया। ड्राइवर ने मवेशियों को बचाने के लिए अचानक गाड़ी मोड़ दी, जिससे वह पलट गई। इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी, सब इंस्पेक्टर पंकज सिंह, अनूप सिंह और सिपाही सत्यवीर और प्रदीप को चोटें आईं और वे बेहोशी की हालत में पहुंच गए। इस दौरान विकास ने इंस्पेक्टर रमाकांत पचौरी की पिस्टल छीन ली और कच्चे रास्ते पर भागने लगा। पीछे से दूसरे वाहन से आ रहे एसटीएफ के डीएसपी तेजबहादुर सिंह पलटी गाड़ी के पास पहुंचे तो उन्हें विकास के भागने की खबर मिली। उन्होंने और साथी पुलिसवालों ने उसका पीछा किया तो विकास फायर करने लगा। उसे जिंदा पकड़ने की पूरी कोशिश की गई, लेकिन वह फायर करता रहा। जवाबी फायर में विकास घायल हो गया। उसे तुरंत सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसको मृत घोषित कर दिया गया।

विकास के एनकाउंटर की खबर से लोगो मे खुशी का माहौल- 

विकास दुबे के एनकाउंटर की खबर मिलने के बाद कानपुर और उसके आसपास के क्षेत्रों में खुशी का माहौल हो गया। विकास दुबे के मारे जाने की खबर के बाद लोगों ने एक दूसरे को मिठाइयां खिलाकर खुशी जाहिर करी साथ ही पुलिस टीम का माला पहनाकर स्वागत किया। कानपुर शूटआउट में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के परिजनों ने पुलिस के इस एनकाउंटर पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आज उनके परिजनों की आत्माओं को शांति मिल गई  विकास दुबे के एनकाउंटर पर शहीदों के परिजनों ने सीएम योगी आदित्यनाथ और पुलिस टीम को बधाई भी दी।

सपा और कांग्रेस ने एनकाउंटर पर उठाए सवाल - 

जहां एक तरफ पूरा समाज विकास दुबे के एनकाउंटर पर खुशियां मना रहा था तो वहीं देश के दो प्रमुख राजनीतिक दल समाजवादी पार्टी और कांग्रेस इस एनकाउंटर के ऊपर सवाल खड़े कर रहे थे।  सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट करके इस एनकाउंटर को फर्जी बताया तो वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने इसकी न्यायिक जांच की मांग करी।

एनकाउंटर की जांच शुरू - 

विकास दुबे एनकाउंटर की जांच भी शुरू हो गई है। इंस्पेक्टर गोविन्द नगर अनुराग मिश्रा को विवेचक बनाया गया है। एडिशनल एसपी एसटीएफ़ सत्यसेन यादव ने टीम के साथ सचेंडी थाने पर डेरा डाल रखा है साथ ही सीओ क्राईम कानपुर विकास पाण्डेय और सीओ सदर ऋषिकेश यादव भी थाने  पहुंच कर पूछताछ शुरू कर चुके है।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार