सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

संसार के समस्त सनातनियों को पवित्र श्रावण मास के प्रथम सोमवार की मंगलकामनाएं... महादेव की पूजा कर संकल्प लीजिए धर्मपथ पर चलते हुए राष्ट्रसेवा का

आज सावन के प्रथम सोमवार को सुदर्शन परिवार देवाधिदेव महादेव को नमन वंदन करते हुए धर्मपथ पर चलते हुए अनवरत राष्ट्र सेवा में समर्पित रहने का संकल्प लेता है तथा संसार के समस्त धार्मिकों को सावन के प्रथम सोमवार की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं देता है.

Abhay Pratap
  • Jul 26 2021 11:26AM

आज पवित्र श्रावण माह का प्रथम सोमवार है. हर हर देवाधिदेव महादेव के भक्त अपने अपने तरीके से उनकी पूजा कर रहे हैं, शिवाभिषेक कर रहे हैं. मंदिरों में कोविड नियमों का पालन करते हुए शिव भक्तों की लाइन लगी हुई है तथा हर हर महादेव का उद्घोष सुनाई दे रहा है. सावन का महीना महादेव और माता पार्वती को समर्पित होता है. इस महीने में कई त्योहार पड़ते हैं, इस कारण पूरा महीना ही एक उत्सवभरा रहता है लेकिन सावन के महीने में सोमवार का लोगों को खासतौर पर इंतजार रहता है.

सोमवार के दिन भगवान भोलेनाथ के भक्त उनका व्रत रखते हैं. सोमवार के दिन ही कांवड़िए भगवान का जलाभिषेक करते हैं लेकिन कोविड के कारण इस बार ज्यादातर राज्यों में कांवड़ यात्रा बैन है. सावन के सोमवार कभी 4 और कभी 5 होते हैं, लेकिन इस बार महीने में कुल 4 सोमवार ही पड़ेंगे. पहला सोमवार आज 26 जुलाई 2021 को  है. इसके बाद अगला सोमवार 2 अगस्त, तीसरा सोमवार 9 अगस्त और चौथा सोमवार 16 अगस्त को पड़ेगा.

वैसे तो पूरे सावन के महीने को ही भगवान शिव का महीना माना जाता है, लेकिन सोमवार का दिन खासतौर पर महादेव की आराधना के लिए माना गया है, ऐसे में सावन के महीने में सोमवार का महत्व और ज्यादा बढ़ जाता है. सावन में सोमवार के दिन भगवान शिव, माता पार्वती और नंदी की पूजा की जाती है. सावन भगवान शिव का प्रिय महीना कहा जाता है और ऐसा माना जाता है कि इस महीने में शिव बहुत खुश रहते हैं और इस वजह से वो अपने भक्तों की हर मुराद को पूरा करते हैं.

सोमवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि के बाद महादेव और माता पार्वती के समक्ष व्रत का संकल्प लें. इसके बाद दोनों के साथ वाली प्रतिमा या शिवलिंग को स्थापित कर जलाभिषेक करें. फिर महादेव को चंदन और माता पार्वती को सिंदूर अर्पित करें और इसी के साथ भगवान को फूल, धतूरा, दूध, बेलपत्र आदि अर्पित करें. इसके बाद माता पार्वती को सोलह श्रृंगार की चीजें अर्पित करें. फिर धूप, दीप और प्रसाद आदि चढ़ाएं. भगवान के सामने शांत बैठ कर ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें. शिव चालीसा पढ़ें और आरती गाएं. फिर भगवान से अपनी भूल चूक को माफ करने के लिए प्रार्थना करें.

आज सावन के प्रथम सोमवार को सुदर्शन परिवार देवाधिदेव महादेव को नमन वंदन करते हुए धर्मपथ पर चलते हुए अनवरत राष्ट्र सेवा में समर्पित रहने का संकल्प लेता है तथा संसार के समस्त धार्मिकों को सावन के प्रथम सोमवार की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं देता है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार