सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

जानिए कैसे पता चलेगा कि आपकी पंचायत आरक्षित है या नहीं?

जिला पंचायतराज अधिकारी ने 24 फरवरी को ग्राम पंचायतवार आरक्षण की घोषणा करने की बात कही है। आरक्षण को लेकर लगभग तैयारियां पूरी हो गई हैं।

Sudarshan News
  • Feb 14 2021 11:14PM

यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष का आरक्षण जारी होने के बाद अब लोगों में उत्सुकता अपनी पंचायत का आरक्षण जानने को लेकर है। नए पुराने सभी दावेदार अपनी ग्राम पंचायतों की स्थिति जानने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। उनकी जुबान पर एक ही सवाल है कि ग्राम पंचायत आरक्षित रहेगी या सामान्य। घोषणा का इंतजार जितना बढ़ता जा रहा हैं, दावेदारों की धड़कनें उतनी ही तेज होती जा रही हैं। ऐसे में जिला पंचायतराज अधिकारी ने 24 फरवरी को ग्राम पंचायतवार आरक्षण की घोषणा करने की बात कही है। आरक्षण को लेकर लगभग तैयारियां पूरी हो गई हैं।

कानपुुर के जिला पंचायतराज अधिकारी कमल किशोर के मुताबिक 201 ग्राम पंचायतों को महिला प्रधान मिलना तय है। इन ग्राम पंचायतों में से 49 में अनुसूचित जाति, 55 में पिछड़ा वर्ग और शेष 97 का प्रतिनिधित्व सामान्य वर्ग की महिलाएं करेंगी। अनुसूचित जनजाति के लिए जिले में एक भी ग्राम पंचायत आरक्षित नहीं की गई है।

नई आरक्षण नीति के बाद सबसे ज्यादा 26-26 महिला प्रधान घाटमपुर और भीतरगांव में होंगी। जबकि सबसे कम 9 ककवन ब्लॉक में। कल्याणपुर में 17, बिधनू में 20, सरसौल में 21, बिल्हौर में 23, शिवराजपुर में 22, चौबेपुर में 20 और पतारा में 17 महिला प्रधान होंगी। पिछले आरक्षण की बात करें तो उसमें इस बार जरा सा फेरबदल किया गया है। पतारा ब्लॉक की अनुसूचित महिला की एक सीट को कम करके उसे सामान्य महिला के लिए आरक्षित कर दिया गया है। 

अमरोहा में ब्लॉक प्रमुख की सीटों का आरक्षण चार्ट जारी : 


अमरोहा में ब्लॉक प्रमुख की सीटों के आरक्षण का चार्ट जिले के अफसरों मिल गया है। आरक्षण चार्ट के आधार पर ही ब्लॉक प्रमुख के पद आरक्षित किए जाएंगे। इससे क्षेत्र पंचायत की राजनीति में हलचल बढ़ गई है। जिले में छह ब्लॉक प्रमुख चुने जाएंगे, जिनमें अमरोहा, जोया, गजरौला, मंडी धनौरा, हसनपुर व गंगेश्वरी क्षेत्र शामिल हैं। उक्त क्षेत्र पंचायत में 683 क्षेत्र पंचायत सदस्यों के पदों पर भी चुनाव कराया जाएगा। ब्लाक प्रमुख के पदों पर आरक्षण का चार्ट शासन स्तर से जिले को मिल गया है। अब आरक्षण चार्ट के आधार पर ही जिले में क्षेत्र पंचायत प्रमुख के पद आरक्षित किए जाएंगे। आरक्षण चार्ट जारी होते ही क्षेत्र पंचायत की राजनीति में हलचल बढ़ गई है। भावी उम्मीदवार चुनाव लड़ने के लिए सक्रिय हो गए हैं।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार