सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

दुर्दांत गैंग्स्टर "सालिम" कैराना से गिरफ्तार. लगाया था मास्क, फिर भी पहिचान गई पुलिस... काम न आया नाहिद हसन का हंगामा

कभी यही स्थान हुआ करता था पलायन के लिए प्रसिद्ध.

Rahul Pandey
  • Oct 29 2020 8:38PM

बस कुछ ही समय पहले की बात है जब उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ का शासन नही हुआ करता था. तब अचानक ही अक्सर गुमनाम रहने वाले जनपद शामली और उसके एक छोटे से कस्बे कैराना का नाम दुनिया भर में गूँज गया था. वजह थी कि हिन्दुओं के हिसाब से बहुसंख्यक कहे जाने वाले कैराना से हिन्दुओं का ही पलायन.

यकीन करने लायक विषय नहीं था लेकिन आरोप खुद भाजपा के संसद और क्षेत्र के सबसे सम्मानित कहे जाने वाले नेता हुकुम सिंह ने लगाया था जिस पर गहराई से जांच हुई. आख़िरकार सरकार बदली और समय भी बदला. आज के समय का कैराना कैसा है, इसको कोई भी जा कर खुद न सिर्फ देख सकता है बल्कि आराम से घूम टहल कर महसूस भी कर सकता है.

वर्तमान समय में जनपद शामली की कमान पुलिस अधीक्षक नित्यानंद राय के हाथो में है और कैराना क्षेत्र की कमान इंस्पेक्टर प्रेमवीर राणा के पास.. इन दोनों ने मिल कर अशांत रहे कैराना को कैसे शांत किया होगा इसको देखना और समझना है तो आज थाने के बाहर समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन द्वारा किये गये हंगामे से जाना जा सकता है. 

ऋषि चाणक्य का कथन था कि जब गद्दारों की टोली में हाहाकार मचे तो समझ लो कि शासक सही राह पर है. अधिकारियो से अक्सर भिड़ने की शौक रखने वाले विधायक नाहिद हसन को आज कैराना कोतवाली से उलटे पाँव लौटना पड़ा क्योंकि स्थानीय थाने पर उनकी एक भी न चली और इस बात का एहसास हो गया कि वहां जो भी तैनात है उसको झुकाया और दबाया नही जा सकता है.

फिलहाल कैराना पुलिस ने एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए न सिर्फ क्षेत्र बल्कि जनपद शामली के दुर्दांत गैंग्स्टर सालिम को आखिरकार दबोच ही लिया. सालिम वेश बदल कर अर्थात चेहरा छिपा कर भागने की फिराक में था लेकिन सटीक सूचना के आधार पर उसको आखिरकार पहिचान लिया गया और दबोच कर जेल यात्रा पर रवाना कर दिया गया.

इंस्पेक्टर कैराना प्रेमवीर राणा का कुशल नेतृत्व आख़िरकार कैराना में न सिर्फ अपराधियों के हौसले पस्त कर रहा है बल्कि अपने साथी सिपाही और सब इंस्पेक्टरों में जोश भी भर रहा है और उसी जोश का ये प्रतिफल है जो अब सालिम की गिरफ्तारी के फलस्वरूप देखने को मिला है. इंस्पेक्टर कैराना व् पुलिस अधीक्षक शामली का ही प्रभाव था कि विधायक तक का हंगामा नही कम कर पाया पुलिस का मनोबल.

गिरफ्तार हुआ गैंग्स्टर सालिम मुकदमा अपराध संख्या - 32 / 19 , धारा 3 / 5 / 8 CS एक्ट के साथ मुकदमा अपराध संख्या 431 / 2020 धारा 3 / 2  गैंग्स्टर अधिनियम में वांछित था. गैंग्स्टर सालिम के अब्बा का नाम सट्टा है और ये गाँव भूरा थाना कैराना का निवासी है. अपराधी गैंग्स्टर सालिम की गिरफ्तारी के बाद स्थानीय जनता ने ख़ुशी जताई है और थाना कैराना की कार्यवाई की मुक्त कंठ से प्रशंशा कर रही है. 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

Keep it up

  • Guest
  • Oct 30 2020 12:35:04:580PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार