सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

TikTok की रेटिंग की हुई जमकर आलोचना, यूज़र्स ने बताया घटिया App

हालांकि, फैज़ल से बड़ा नुकसान टिकटॉक ऐप को हुआ है, जिसको लगातार फैन्स से नेगेटिव रिव्यू मिल रहे हैं और इसको बैन करने की मांग की जा रही है। इन सभी कारणों की वजह से अब इस ऐप की रेटिंग भी 4.5 से 1 के पास पहुंच गई है।

Abhishek Lohia
  • May 21 2020 1:34AM

पिछले कुछ दिनों से विवादों में घिरे TikTok App की रेटिंग लगातार घटती जा रही है। अभी मंगलवार को ही हमने बताया था टिकटॉक की रेटिंग 4.5 से घटकर 2 हो गई है। अब महज एक दिन के अंदर ही यह रेटिंग 1 के आसपास पहुंच गई है। जी हां, ताजा गूगल प्ले स्टोर रेटिंग का रूख करें, तो दृश्य चौंका देने वाला है। कल तक जो ऐप फेसबुक व इंस्टाग्राम जैसे ऐप्स को पछाड़ने का दम रख रहा था, अब अचानक ही यूज़र्स इसे प्ले स्टोर पर खराब फीडबैक दे रहे हैं। इसके पीछे की वजह है पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो रहा फैज़ल सिद्दकी का टिकटॉक वीडियो, जिसमें उन पर 'एसिड अटैक' जैसे संगीन जुर्म को ग्लैमराइज़ करने का आरोप लगा था। हालांकि, मामला तूल पकड़ते देख ही फैज़ल सिद्दकी ने वीडियो अपने टिकटॉक अकाउंट से डिलीट तो कर दिया, लेकिन इसे दुनिया की नज़रों से नहीं बचा सके। जिसके परिणाम स्वरूप अब न केवल उनका वीडियो ब्लॉक कर दिया गया है बल्कि उनके अकाउंट तक को सस्पेंड कर दिया गया है।

हालांकि, फैज़ल से बड़ा नुकसान टिकटॉक ऐप को हुआ है, जिसको लगातार फैन्स से नेगेटिव रिव्यू मिल रहे हैं और इसको बैन करने की मांग की जा रही है। इन सभी कारणों की वजह से अब इस ऐप की रेटिंग भी 4.5 से 1 के पास पहुंच गई है। TikTok को अब तक गूगल प्ले स्टोर पर 26 मिलियन लोग अपनी रेटिंग दे चुके हैं, सबसे ज्यादा लोगों ने इस ऐप को महज 1 रेटिंग दी है। इससे पहले मंगलवार को लिखी खबर में यह रेटिंग 2 थी।
 

क्या था फैज़ल सिद्दकी की TikTok वीडियो में?

फैज़ल सिद्दिकी के इस TikTok वीडियो में वह एक लड़की पर पानी फेंकते दिख रहे हैं, पानी फेंकते ही वीडियो में वो लड़की अलग से मेकअप में नज़र आ रही है, जो कि एसिड अटैक होने के बाद से निशानों का इशारा दे रहे हैं। जिसके बाद ही लोगों ने इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया और एसिड अटैक जैसे संगीन जुर्म को प्रमोट करने के आरोप में टिकटॉक ऐप को बैन करवाने की मांग करने लगे।

सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद राष्‍ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए TikTok India और महाराष्ट्र पुलिस को तुरंत इसके खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए थे। टिकटॉक ने भी बाद में वीडियो और क्रिएटर दोनों को ही ऐप पर बैन कर दिया।

TikTok ने अपने बयान में कहा, "टिकटॉक पर लोगों को सुरक्षित रखना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। पॉलिसी के अनुसार, हम ऐसे कॉन्टेंट की अनुमति नहीं देते हैं जो दूसरों की सुरक्षा को जोखिम में डालता है, शारीरिक हिंसा को बढ़ावा देता है या फिर महिलाओं के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा देता है। यह वीडियो हमारे दिशानिर्देशों का उल्लंघन करता है। हमने उस कॉन्टेंट को डिलीट कर दिया है, अकाउंट को भी बैन कर दिया गया है, और कानूनी एजेंसियों के साथ मिलकर काम भी किया जा रहा है।
 

YOUTUBE VS TIK-TOK की जंग की वजह निशाने पर है टिकटॉक-

हालांकि, इससे इत्तर एक और कारण है जिस वजह से टिक-टॉक पिछले कुछ समय से आलोचनाओं में घिरा हुआ था, वो है YOUTUBE VS TIK-TOK मुद्दा। दरअसल, टिकटॉक के एक अन्य मशहूर क्रिएटर ने अपनी टिकटॉक वीडियो में कहा था कि टिकटॉक का कॉन्टेंट यूट्यूब वीडियो से ज्यादा बेहतर और इंटरटेनिंग होता है। जिसके बाद से ही यूट्यूबर्स द्वारा उनकी हर तरफ से आलोचना होने लगी। लेकिन इस मुद्दे ने ज़ोर तब पकड़ा जब मशहूर यूट्यूबर कैरी मिनाटी ने अपने रोस्ट वीडियो में सभी टिकटॉकर्स को आड़े हाथों लिया और उनको जमकर रोस्ट किया। तब से ही यूट्यूबर्स द्वारा टिकटॉकर्स को ट्रोल किया जा रहा है। हालांकि, इस मामले में कैरी को हर तरफ से सपोर्ट मिल रहा है।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार