सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

लंबी बीमारी के चलते सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के चेयरमैन ली कुन-ही का निधन

ली को मई- 2014 में दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उसके बाद से वह अस्पताल में ही थे.

Abhishek Lohia
  • Oct 25 2020 8:12PM
सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के चेयरमैन ली कुन-ही का निधन हो गया है. वह 78 वर्ष के थे. ली लंबे समय से बीमार थे, उन्हें सैमसंग को एक छोटी टेलीविजन कंपनी से उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र की दिग्गज ब्रांड बनाने का श्रेय जाता है. सैमसंग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ली का निधन रविवार को हुआ, उस समय उनके पुत्र ली जेई-योंग और परिवार के अन्य सदस्य उनके पास थे.

ली को मई- 2014 में दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उसके बाद से वह अस्पताल में ही थे. उनकी अनुपस्थिति में उनके पुत्र योंग ने दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी कंपनी सैमसंग का कामकाज देखा. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है, 'सैमसंग में हम सभी ली को भूल नहीं पाएंगे, हमने उनके साथ जो यात्रा साझा की है, उसके लिए हम उनके आभारी हैं.'

ली कुन-ही ने अपने पिता से कंपनी का नियंत्रण अपने हाथ में लिया था, उनके 30 साल के नेतृत्व में सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी एक वैश्विक ब्रांड बनीं. साथ ही उनकी अगुवाई में सैमसंग सबसे बड़ा स्मार्टफोन, टीवी और मेमोरी चिप ब्रांड भी बनी. 

अधिकारिक तौर पर अपने पिता ली ब्युंग-चुल के निधन के बाद 1987 में 45 साल की उम्र में ली को सैमसंग की कमान मिली थी. फोर्ब्स के मुताबिक ली कुन-ही अपने निधन के बाद करीब 21 बिलियन डॉलर की संपत्ति छोड़ गए हैं. 


सैमसंग की मदद से दक्षिण कोरिया एशिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सका. सैमसंग समूह जहाज निर्माण, जीवन बीमा, निर्माण, होटल, मनोरंजन पार्क जैसे क्षेत्रों में भी कार्यरत है.

ली का निधन ऐसे समय हुआ है जबकि सैमसंग को मुश्किलों से गुजरना पड़ रहा है. ली के अस्पताल में भर्ती होने के बाद सैमसंग के आकर्षक मोबाइल कारोबार को चीन और अन्य उभरते बाजारों की कंपनियों से कड़ी चुनौती मिलने लगी.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार