सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

राजस्थान की भजनलाल सरकार ने मीसा बंदियों को लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा तोहफा देने का किया एलान, मिलेगी 20000 रुपये पेंशन... जश्न का माहौल

उन्होंने कहा कि कोटा में 125 मीसा बाबंदी के करीब अभी हैं, जिनमें बीजेपी के भी कई बड़े नाम हैं, किसान संघ से जुड़े हुए मोहनलाल नागर, शिव करण, सत्यनारायण चौरसिया, नंदलाल नागर सहित अन्य लोगों को भी इसका लाभ मिलेगा.

Geeta
  • Feb 11 2024 11:47PM
लोकसभा चुनाव से पहले राजस्थान की भजनलाल सरकार ने मीसा बंदियों को लेकर बड़ा एलान किया है. बता दें कि भजनलाल सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले राजस्थान की भजनलाल सरकार एक बार फिर से मीसा बंदियों की पेंशन शुरू करने जा रही है. जिसके बाद लोगों ने जश्न मनाया. बता दें कि इस ऐलान से राज्य के 1100 से 1200 मीसा बंदियों को सीधा लाभ मिलेगा.

 

इसको लेकर लोकतंत्र रक्षा मंच राजस्थान के कार्यवाहक अध्यक्ष हनुमान शर्मा ने बताया कि मीसा बंदियों की पेंशन शुरू करना स्वागत योग्य कदम हैं, जिन्होंने देश के लिए अपनी जान की बाजी लगाते हुए आपातकाल में संघर्ष किया, जेल में रहे और कई यातनाएं सहीं. उन्हें अब सम्मान मिल रहा है. 

 

हनुमान शर्मा ने कहा कि, 25 जून 1975 को देश में इमरजेंसी लगाई गई थी. उसके बाद पूरे देश में इंदिरा गांधी के शासन का विरोध शुरू हो गया, उसके बाद जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में देशभर में आंदोलन चला. इस आंदोलन के तहत कोटा में भी सैकड़ो मीसा बंदी सड़कों पर आए और इंदिरा गांधी का पुतला जलाया. 

 

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि, इंदिरा गांधी की तानाशाही इतनी थी कि किसी भी आंदोलन में 151 तहत उन्हें बंद कर दिया जाता था, लेकिन जब उनकी जमानत होने लगी तो डीआईआर बना दिया गया. जिसमें गैर जमानती धाराएं शामिल थी और उसके बाद जमानत नहीं होती थी. हालांकि इसके बावजूद आंदोलनकारियों ने आंदोलन जारी रहा और जेल में रहे. उन्होंने कहा कि एक बार फिर से भजनलाल सरकार ने मीसा बंदियों को सम्मान दिया है और पेंशन 20 हजार रुपये प्रतिमाह कर दी. 

 

हनुमान शर्मा ने बताया कि अब भजनलाल सरकार एक बार फिर बनी है, जिसमें राजस्थान के करीब 1100 से 1200 मीसाबंदियों को 20 हजार रुपए पेंशन और 1200 रुपए चिकित्सा सेवा के रूप में दिए जाएंगे.
 
उन्होंने कहा कि कोटा में 125 मीसा बाबंदी के करीब अभी हैं, जिनमें बीजेपी के भी कई बड़े नाम हैं, किसान संघ से जुड़े हुए मोहनलाल नागर, शिव करण, सत्यनारायण चौरसिया, नंदलाल नागर सहित अन्य लोगों को भी इसका लाभ मिलेगा. करीब 250 से 300 लोग ऐसे भी हैं जो मीसाबंदी के तौर पर धारा 151 में पाबंद किए गए वह भी इस योजना से लाभान्वित हों, उनकी भी प्रक्रिया विचाराधीन है.

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार