सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

East-Asia Summit : आज पीएम मोदी करेंगे ईस्ट-एशिया समिट में शिरकत, चीन-रूस सहित अमेरिका भी होंगे शामिल

East Asia Summit 18वां आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भारत सदस्य देशों के साथ रणनीतिक साझेदारी की स्थिति की समीक्षा करेगा

Kartikey Hastinapuri
  • Oct 27 2021 9:51AM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज 16वें ईस्ट एशिया सम्मेलन (16th East Asia Summit) में भाग लेंगे। वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए इन सम्मेलनों में शामिल होंगे। पीएम मोदी आज ईस्ट एशिया सम्मेलन में हिस्सा लेंगे, इसमें अमेरिका (America), रुस (Russia) और चीन (China) समेत कुल अठारह देश सदस्य के तौर पर भाग लेते हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, रूसी राष्ट्रपति पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी ज़िनपिंग के भी सम्मेलन में शामिल होने की पूरी संभावना है। ईस्ट एशिया सम्मेलन (ईएएस) रणनीतिक वार्ता के लिए इंडो-पैसिफिक का प्रमुख मंच है।

रणनीतिक साझेदारी पर चर्चा करेगा भारत

गौरतलब है कि 18वां आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भारत सदस्य देशों के साथ रणनीतिक साझेदारी की स्थिति की समीक्षा करेगा और कोविड-19 की परिस्थितियों के बीच स्वास्थ्य, व्यापार और वाणिज्य, कनेक्टिविटी, और शिक्षा और संस्कृति सहित प्रमुख क्षेत्रों में हुई हो रही प्रगति की समीक्षी की जाएगी। कोरोना महामारी के बाद आर्थिक सुधार सहित महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विकास पर भी इस शिखर सम्मेलन में वार्ता की होगी।

हर साल आयोजित किया जाता है आसियान-भारत शिखर सम्मलेन

गौरतलब है कि आसियान-भारत शिखर सम्मेलन हर साल आयोजित किया जाता हैं और भारत और आसियान को उच्चतम स्तर पर जुड़ने का अवसर प्रदान करते हैं। आसियान शिखर सम्मेलन हर साल आयोजित होता है लेकिन इस साल हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के खिलाफ चल रही घेराबंदी के बीच पहली बार यह सम्मेलन आयोजित हो रहा है।

इस सम्मेलन में शामिल होने वाले अधिकांश देश चीन के पड़ोसी देश है और सभी देशों का दक्षिण चीन सागर या दूसरे अन्य मुद्दों को लेकर चीन के साथ विवाद है। इस सम्मलेन में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन भी पहली बार शामिल हो सकते हैं, ऐसे में इस बार का आसियन शिखर सम्मेलन खास हो सकता है। QUAD और AUKUS के गठन एवं सक्रियता के बाद इन सम्मेलनों की अहमियत बढ़ गई है।

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार