सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Delhi Pollution : 27 नवंबर से दिल्ली में पेट्रोल और डीज़ल वाहनों की 'नो एंट्री', सिर्फ इन वाहनों को मिलेगी छूट

दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए 27 नवंबर से सिर्फ सीएनजी और इलेक्ट्रिक वाहनों को ही राजधानी में एंट्री देने का फैसला किया है। बाकी सभी वाहनों के दिल्ली में 3 दिसंबर तक एंट्री पर रोक रहेगी

Kartikey Hastinapuri
  • Nov 25 2021 12:35PM

देश की राजधानी दिल्ली, अब प्रदूषण के मामले में भी देश ही नहीं बल्कि विश्व की राजधानी बन गई है, क्योंकि प्रदूषण में दुनियां के शहरों को सूचिबद्ध तरीके से रखने वाली संस्था IQ AIR ने बताया कि विश्व में दिल्ली की हवा सबसे खराब है। दिल्ली की आबोहवा 'बद से बदतर' होने के कारण अभी हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के साथ साथ राज्य सरकार की भी फटकार लगाई थी। 

गौरतलब है कि , दिल्ली में जहरीली होती हवा ने दिल्लीवासियों के लिए कई समस्याए खड़ी कर दी है। बीते 1-2 हफ्तों में दिल्ली में प्रदूषण को देखते हुए कई प्रतिबन्ध लगाए गए थे, जिसको समय के साथ अब हटा लिया गया है। लेकिन अब भी दिल्ली सरकार प्रदूषण के विरूद्ध बड़े-बड़े कदम उठा रही है। इसी के तहत दिल्ली सरकार ने CNG और E-Vehicle के अलावा बाकी सभी वाहनों पर 27 नवंबर से 3 दिसंबर तक एंट्री पर रोक लगा दी है। 

27 नवंबर से 3 दिसंबर तक रहेगी वाहनों की एंट्री पर रोक 

दिल्ली सरकार ने बताया कि 27 नवंबर से तीन दिसंबर तक सभी पेट्रोल और डीजल वाहनों पर प्रतिबंध रहेगा। दिल्ली के बाहर से आवश्यक सेवाओं में शामिल लोगों और वाहनों को छोड़कर, ट्रकों और अन्य वाहनों का प्रवेश रोक दिया गया है।

 दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद प्रेस वार्ता में कहा, "दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम हो रहा है, जिससे दिवाली से पहले के दिनों की तरह वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में सुधार हुआ है। दिल्ली सरकार ने इसे बनाए रखने के लिए कई उपाय किए हैं। दिल्ली के बाहर से आवश्यक सेवाओं में शामिल लोगों को छोड़कर ट्रकों और अन्य वाहनों का प्रवेश रोक दिया गया है।"

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री ने कहा, "27 नवंबर से, केवल सीएनजी से चलने वाले और इलेक्ट्रिक वाहनों को राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश की अनुमति होगी। अन्य सभी वाहनों पर 3 दिसंबर तक प्रतिबंध रहेगा।" दिल्ली की हवा को स्वच्छ रखने के लिए आवश्यक उपायों पर निर्णय लेने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद यह फैसला लिया गया है।

29 नवंबर से खुलेंगे स्कूल-दफ्तर

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री ने सरकारी कर्मचारियों से सार्वजनिक वाहनों का इस्तेमाल करने को कहा है। 'हमने हाल ही निजी सीएनजी बस किराए पर लिए हैं। हमने फैसला किया है कि कर्मचारियों को सरकारी आवासीय कॉलोनी जैसे कि गुलाबी बाग और तिमारपुर कॉलोनी से लाने के लिए इनके इस्तेमाल का फैसला किया है।' दिल्ली सरकार दिल्ली सचिवालय से आईटीओ और इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन तक अपने कर्मचारियों के लिए शटल बस सेवा भी शुरू करेगी।

उन्होंने बताया कि 'पिछले तीन दिनों में हवा की गुणवत्ता में सुधार हुआ है। शहर का एक्यूआई वैसा ही है जैसा कि दिवाली के दिनों में था।' इसकी वजह से दिल्ली सरकार ने स्कूल-कॉलेजों और बाकी शिक्षण संस्थानों के अलावा सरकार दफ्तरों को 29 नवंबर से में फिर से खोलने का फैसला किया है।

 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार