सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

फैक्ट्री बंद हुई तो सब्जी बेच कर घर चला रहा था असम का सनातन.. लेकिन फैजूल ने उसको मार डाला

इस मामले में अब तक मानवाधिकार के तमाम अलमबरदार व् वामपंथी वर्ग पूरी तरह से चुप बैठा है और चुपचाप अपने खुद के द्वारा बनाये गये कथित सेकुलरिज्म के नियमों का पालन का रहा है.

Sudarshan News
  • May 25 2020 9:54PM

असम में एक सब्जी विक्रेता की पाँच लोगों ने निर्ममता से पीट-पीट कर हत्या कर दी... ये वीभत्स हत्या असम के हाजो के पास मनाहकुची में हुई... जहाँ सनातन डेका पर फैजुल अली और उसके दोस्तों ने जानलेवा हमला किया था... मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तेतेलिया गाँव के सनातन डेका एक कारखाने में मजदूर के रूप में काम करते थे... लेकिन लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री बंद हो गई थी.... इसलिए उन्होंने आर्थिक कठिनाइयों से निपटने के लिए अपनी साइकिल पर सब्जियाँ बेचने का काम शुरू किया था... हाजो की सड़कों पर सब्जियाँ बेचने के क्रम में सनातन की साइकिल गलती से एक स्कूटी से टकरा गई...

उस स्कूटी पर फैजुल अली और लाजिल अली सवार थे... साइकिल के स्कूटी में टकराने से फैजुल और लाजिल को गुस्सा आ गया और उन दोनों ने गुस्से में आकर सनातन डेका को पीटना शुरू कर दिया...इसके अलावा उन्होंने इलाके में सब्जियाँ बेचने को लेकर भी सनातन के साथ बहस की.... वे अपनी स्कूटी पर आए मामूली खरोंच से इतने क्रोधित हो गए कि उन्होंने सनातन की पिटाई करने के लिए और लोगों को भी बुला लिया.... जिसके बाद तीन और लोग, शब्बीर अली, यूसुब अली और फरजान अली मौके पर पहुँचे और उन दोनों के साथ मिलकर सनातन डेका की पिटाई कर दी.... 

सनातन डेका को गंभीर रूप से घायल करने के बाद उन्मादी मौके से फरार हो गए... जल्द ही इलाके के लोगों ने उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया... लेकिन भर्ती होने के एक घंटे के भीतर उन्होंने दम तोड़ दिया... बताया जा रहा है कि फैजुल अली एक एजीपी नेता का भाई है... हाजो पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है.... साथ ही पुलिस ने दोषियों की तलाश भी शुरू कर दी है.. फिलहाल इस मामले में अब तक मानवाधिकार के तमाम अलमबरदार व् वामपंथी वर्ग पूरी तरह से चुप बैठा है और चुपचाप अपने खुद के द्वारा बनाये गये कथित सेकुलरिज्म के नियमों का पालन का रहा है. 

 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

कोरोना के कारण पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

Donation
0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार