सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

नोएडा: डबल मर्डर, भाई की हत्या का बदला हत्या कर लिया

पुलिस के मुताबिक मृतक डालचंद्र उर्फ विराट का पारिवारिक विवाद था जिसमें 2011 में उसके भाई की हत्या की गई थी. उसका बदला डालचंद्र ने आरोपियों के भाई को मारकर लिया था. अब उसी रंजिश में आरोपियों ने डालचंद्र की हत्या को अंजाम दिया है.

Abhishek Lohia
  • Sep 12 2020 6:02PM

दिल्ली से सटे गौतम बुद्ध नगर के थाना बिसरख क्षेत्र के अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में दोहरे हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक मृतक डालचंद्र उर्फ विराट का पारिवारिक विवाद था जिसमें 2011 में उसके भाई की हत्या की गई थी. उसका बदला डालचंद्र ने आरोपियों के भाई को मारकर लिया था. अब उसी रंजिश में आरोपियों ने डालचंद्र की हत्या को अंजाम दिया है. 

फिलहाल पुलिस ने दो मुख्य आरोपी सुरेश और मोहित को गिरफ़्तार कर लिया है जबकि जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया था वो शार्प शूटर अभी फरार है. पुलिस ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है.

बता दें कि मृतक डालचंद्र उर्फ विराट हरियाणा का रहने वाला था. उसके पिता गांव में लगातार कई बार सरपंच रह चुके हैं. इसी दौरान गांव में कुछ लोगों से दुश्मनी बढ़ी और फिर यहां से बदले की भावना से कत्ल का सिलसिला शुरू हो गया. इसी क्रम में कृष्ण नाम का युवक ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर 2011 में डालचंद्र के भाई राजेंद्र और एक अन्य साथी कपिल की गोली मार कर हत्या कर दी थी. 

पुलिस के मुताबिक कृष्ण और उसके दोस्त दयानंद और टेकचंद ने जेल में ही डालचंद्र की हत्या करने का प्लान बनाया था. लेकिन डाल चंद्र उर्फ विराट अपने कुछ आदमियों के साथ मिलकर अपने भाई राजेंद्र का बदला लेने के लिए जेल से बाहर आने पर कृष्ण की कोसीकलां में हत्या कर दी थी. 

इस हत्या के आरोप में डालचंद्र और उसके साथी जेल भेज दिए गए. लेकिन जब छह महीने बाद जमानत पर बाहर आए तो इस बार कृष्णा के भाई मोहित ने अपने भाई की मौत का बदला लेने के लिए डाल चंद्र की हत्या कर दी.

नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं, हंगामा

गाजियाबाद के मोदीनगर इलाके में बीते 25 अगस्त को अक्षय सांगवान की हत्या के मामले में परिजनों ने मोदीनगर थाने का घेराव किया. घर से बाहर बुलाकर गोलियों से भूनकर अक्षय सांगवान की हत्या की गई थी. शनिवार को अक्षय के परिजनों ने मोदीनगर थाने का घेराव किया और मेरठ रोड पर जाम लगा दिया. पुलिस ने इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता रूबी को पहले ही जेल भेज दिया था.  जाम और हंगामे की सूचना के बाद मोदीनगर थाने पर भारी पुलिसबल तैनात किया गया. लोगों को किसी तरह समझा बुझाकर वापस लौटाया गया.

टैक्सी में युवक की लाश मिलने से सनसनी 

गाजियाबाद के थाना साहिबाबाद इलाके के मोहन नगर चौराहे के पास उस वक्त अफरा तफरी मच गई जब लावारिस टैक्सी में युवक की लाश होने की खबर सुनी. खबर मिलते ही मौके पर भीड़ जमा हो गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. फिलहाल टैक्सी और युवक के बारे में गहनता से जांच की जा रही है.

 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें