सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

सुनो एलन मस्क! भारत में बेचनी है तो यहीं बनाओ टेस्ला, मेड इन चाइना नहीं चलेगा- नितिन गडकरी

आपको बता दें दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला को भारत सरकार ने दो टूक कह दिया है कि चीन में बनी इलेक्ट्रिक कारों को भारत में न बेचें. यानी फिलहाल टेस्ला का भारत में 'मेड इन चाइना' कार बेचने की प्लानिंग पर पानी फिर गया है

Prem Kashyap Mishra
  • Oct 12 2021 7:59PM

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी चाहते हैं कि टेस्ला की गाड़ियां भारत में बनें. उन्होंने इस बारे में Tesla Motors के सीईओ एलन मस्क से कहा है कि वह चीन की बनी कारें भारत लेकर न आएं. ये बातें गडकरी ने ‘इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2021’ के दौरान कहीं. वह बोले, “मैंने टेस्ला को बता दिया है कि वे लोग भारत में चीन की मैन्युफैक्चर्ड ई-कार्स न बेचें. आप हमारे ही मुल्क में इलेक्ट्रिक कार्स को मैन्युफैक्चर करें और यहां से उन्हें एक्सपोर्ट भी करें.” मंत्री ने यह भी कहा कि चूंकि भारत तेजी से ई-व्हीकल्स की ओर बढ़ रहा है, इसलिए यहां पर टेस्ला के लिए सुनहरा मौका है.

आपको बता दें दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला को भारत सरकार ने दो टूक कह दिया है कि चीन में बनी इलेक्ट्रिक कारों को भारत में न बेचें. यानी फिलहाल टेस्ला का भारत में 'मेड इन चाइना' कार बेचने की प्लानिंग पर पानी फिर गया है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार ने टेस्ला को सलाह दी है कि वो भारत में ही कार बनाकर बेचे और निर्यात भी करे. कंपनी ने भी संकेत दिया है कि वह जल्द ही भारत में प्लांट शुरू करेगी और फिर यहीं पर इलेक्ट्रिक कारों का प्रोडक्शन होगा.

आपको बता दें दरअसल दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने अमेरिका से बाहर सबसे पहला प्लांट चीन में लगाया है. कंपनी चीन से ही यूरोप और दूसरे देशों में टेस्ला ई-कारों को एक्सपोर्ट करती है. ये बात भारत पसंद नहीं है. गडकरी ने टेस्ला से कहा है कि वो भारत में प्लांट स्थापित करे और यहीं से ई-कारें दूसरे देशों को निर्यात करे. ऐसे में टेस्ला की इलेक्ट्रिक कारों का उत्पादन जल्द ही भारत में शुरू होने की उम्मीद की जा रही है. इसके संकेत भी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दिए हैं. उन्होंने कहा है कि भारतीय बाजार में एंट्री के लिए टेस्ला और सरकार के बीच लगातार बातचीत चल रही है. 

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार