सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Viral: नींद में रहा अस्पताल प्रशासन, कुत्ते नोचते रहे शव को

वीडियो में दिख रहा शव एक नाबालिग बच्ची का है . जिसकी मौत सड़क दुर्घटना में हो गई थी.

Abhishek Lohia
  • Nov 27 2020 5:30PM

उत्तर प्रदेश के एक सरकारी अस्पताल में लापरवाही का एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. संभल जिले (Sambhal) के एक सरकारी अस्पताल के आपातकालीन वार्ड (Emergency ward) के बाहर स्ट्रेचर पर एक बच्ची का शव आवारा कुत्ते नोचते हुए दिखाई दिए. इस घटना का हैरान कर देने वाला वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल हो रहा है.

वीडियो में दिख रहा शव एक नाबालिग बच्ची का है . जिसकी मौत सड़क दुर्घटना में हो गई थी. बताया जा रहा हे कि दुर्घटना में हुई मौत के बाद नाबालिग बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए संभल जिला अस्पताल (Sambhal District Hospital) लाया गया था. जहां शव को कथित तौर पर आवारा कुत्ते नोचते हुए दिखाई दिए . जिस व्यक्ति ने इस घटना को देखा उसने अस्पताल प्रशासन की घोर लापरवाही का वीडियो कैमरे में कैद कर लिया.

 

एक स्वीपर और एक वार्ड ब्वॉय निलंबित

अस्पताल के कर्मचारियों ने कहा कि यह अटेंडेंट की गलती थी. एक स्वीपर और वार्ड बॉय को निलंबित कर दिया गया है. वहीं अस्पताल में हुए पूरे घटनाक्रम को विस्तार से बताते हुए बच्ची के पिता ने कहा, “दुर्घटना में जान गंवाने वाली मेरी बच्ची का शव लगभग दो घंटे पहले अस्पताल लाया गया था. 2 घंटे तक उसका शव अस्पताल में पड़ा रहा. अस्पताल के कर्मचारियों लापरवाही बरत रहे थे. शव की देखभाल करने के लिए वहां कोई मौजूद नहीं था, तभी शव तक कुत्ते पहुंच पाए.”

 

 

इस बीच, मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) अमिता सिंह ने कहा कि औपचारिकता के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया है. वे पोस्टमॉर्टम नहीं चाहते थे. अमिता सिंह आगे कहती है, मैंने आवारा कुत्तों के खतरे के बारे में नगर पालिका को लिखा, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. उन्होंने इस घटना पर संज्ञान लेते गुए कहा, “घटना की जांच के लिए एक समिति का गठन किया गया है. उन्होंने कहा कि दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी.”

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार