सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अब्दुल शकूर ने कहा- "गुरु नानक का सबसे अच्छा दोस्त मुसलमान".. और कुछ सिखों ने मिल कर खुलवा दी आज़ादी के बाद से बंद पड़ी मस्जिद

मामला दिल्ली का है जहाँ सेकुलरिज्म का हुआ स्वर बुलंद.

Rahul Pandey
  • Nov 22 2020 9:02PM

वो मस्जिद लगभग 70 वर्ष से बंद पड़ी थी. उसका रख रखाव भी काफी समय से रुका पड़ा था लेकिन तभी अचानक ही सामने आये सिखों के कुछ प्रतिनिधि और उनके साथ मिले मुस्लिमो के कुछ नेता और आखिरकार वहां भाईचारे अर्थात सेकुलरिज्म का झंडा और स्वर दोनों बुलंद हुआ जिसके बाद एक लम्बे समय से बंद पड़ी मस्जिद फिर से खुल गई है.

ये मामला है गौरवशाली और बलिदानी परम्परा के प्रतीक पूज्य गुरुओं की धरती पंजाब का  का जहाँ पर एक मस्जिद बहुत लम्बे समय के बाद कुछ सिखों के सामूहिक प्रयासों के बाद खोल दी गई है.  पंजाब प्रदेश के जिला कपूरथला में सुल्तानपुर लोधी में एक किले के अंदर स्थित मस्जिद में काफी लम्बे समय के बाद नमाज की गई. 13 नवंबर को, इलाके के सिखों और मुसलमानों ने मिलकर मस्जिद का उद्घाटन किया।

इस कार्यक्रम के दौरान ख़ुशी से लबरेज़ सिखों ने मुस्लिम उपस्थित लोगों के बीच मिठाई भी बांटी।  इस कार्यक्रम के बाद मुसलमानों ने भी सिखो का शुक्रिया अदा करते हुए उनके लिए दुआ की। मालेरकोटला से सिख और मुस्लिम इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सुल्तानपुर पहुंचे थे। मस्जिद को खुलवाने में अब तक पर्यावरण पर कार्य करने के लिए प्रसिद्ध सिख समुदाय के संत सुखदेव सिंह और संत बलबीर सिंह सबसे बड़ी भूमिका में रहे..

इस मौके पर न सिर्फ जमात ए इस्लामी हिन्द के उपाध्यक्ष सलीम इंजिनियर मौजूद रहे बल्कि इस मौके पर बोलते हुए Jamaat-experience-Islami Hind के प्रमुख अब्दुल शकूर ने इस मौके पर अपने संबोधन में कहा, “मस्जिद का उद्घाटन गुरु नानक की 550 वीं जयंती के आसपास होने वाले कार्यक्रमों और समारोहों का हिस्सा है।” 

इतना ही नहीं अब्दुल शकूर ने आगे कहा कि “गुरु नानक मुसलमानों के बीच रहते थे; उसका सबसे अच्छा दोस्त भी एक मुसलमान था। मुसलमानों और सिखों में एक-दूसरे के साथ बहुत अधिक लगाव है। इंजीनियर सलीम ने कहा कि इसने “देश भर में और पंजाब में हमारे सिख भाइयों से विश्व स्तर पर एक सकारात्मक संदेश भेजा है

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार