सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

भारतीय बिज़नेसमैन लक्ष्मी मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल ब्रिटेन के सबसे बड़े कंगाल, बैंकरप्ट घोषित

प्रमोद मित्तल आज की तारीख में ब्रेटन के सबसे बड़े बैंकरप्ट (दिवालिया) व्यक्ति हैं।

Abhishek Lohia
  • Oct 22 2020 3:41PM
कभी अपनी बेटी की शादी पर 500 करोड़ रुपये खर्च करने वाला शख्स आज बिट्रेन का सबसे कंगाल (bankrupt) घोषित किया है। हम बात कर रहे हैं स्टील किंग लक्ष्मी मित्तल (Lakshmi Mittal) के छोटे भाई प्रमोद मित्तल (Pramod Mittal) की, जिन्होंने वर्ष 2013 में डच मूल के इन्वेस्टमेंट बैंकर गुलराज बहल के साथ अपनी बेटी सृष्टि (Srishti) की शादी में 500 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए थे। वहीं, लक्ष्मी मित्तल ने अपनी बेटी की शादी में 400 करोड़ रुपये खर्च किए थे। लेकिन आज प्रमोद मित्तल पर 2.5 बिलियन पाउंड यानी करीब 24 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है और उनके पास इसे चुकाने के लिए फूटी कौड़ी नहीं है। प्रमोद मित्तल आज की तारीख में ब्रेटन के सबसे बड़े बैंकरप्ट (दिवालिया) व्यक्ति हैं।

64 वर्षीय प्रमोद मित्तल का कहना है कि अब वे सिर्फ 1,10,000 पाउंड यानी 1.5 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। प्रमोद मित्तल ने कहा, उनके पास 7000 पाउंड की ज्वैलरी, 66,669 पाउंड के शेयर और दिल्ली में 45 पाउंड की जमीन है। जबकि, इस समय उन्हें अपने 94 वर्षीय पिता को 170 मिलियन पाउंड (करीब 16 अरब 27 करोड़ रुपये), अपनी पत्नी संगीता के 1.1 मिलियन पाउंड (करीब साढ़े 10 करोड़ रुपये), अपने 30 वर्षीय बेटे दिव्येश को 2.4 मिलियन पाउंड (करीब 23 करोड़ रुपये) और अपने 45 वर्षीय बहनोई अमित लोहिया को 1.1 मिलियन पाउंड (करीब साढ़े 10 करोड़ रुपये) लौटाने हैं। इससे अलावा कंपनियों का उन पर अरबों रुपये का बकाया है। उन्होंने कहा कि लंदन में उनके घर पर भी उनका मालिकाना हक नहीं है।

ऐसे हुआ बंटाधार

प्रमोद मित्तल के लिए मुश्किलों का दौर आज से 14 साल पहले शुरू हुआ जब उन्होंने एक बोस्नियाई कोक निर्माता कंपनी GIKIL के लोन का गारंटर बनने पर सहमति जताई। उनकी कंपनी ग्लोबल स्टील होल्डिंग्स (Global Steel Holdings) GIKIL की गारंटर बनी और बाद में यह कंपनी दिवालिया हो गई और मूरगेट इंडस्ट्रीज (Moorgate Industries) से लिया गया कर्ज नहीं लौटा सकी। जब प्रमोद मित्तल तय डेडलाइन पर और मूरगेट इंडस्ट्रीज का पैसा नहीं लौटा सके तब उनकी कंपनी के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया ( bankruptcy proceedings) शुरू की गई।

कोर्ट ने मित्तल के खिलाफ सुनाया फैसला

प्रमोद मित्तल पर कर्ज तब और बढ़ गया जब 2017 में आर्बिटरेशन कोर्ट ने एक अन्य बोस्नियाई दिवालिया कंपनी के मामले में फैसला Moorgate Industries के पक्ष में सुनाया। प्रमोद मित्तल ही इस कंपनी के भी लोन गारंटर थे और उसका कर्ज भी इनके माथे ही आया। इसके बाद Moorgate Industries कोर्ट चली गई और जून 2020 में कोर्ट ने प्रमोद मित्तल के खिलाफ बैंकरप्सी ऑर्डर दिया। कोर्ट ने प्रमोद मित्तल को 139,786,656 पाउंड यानी करीब 14,000 करोड़ रुपये के अलावा 10,000 करोड़ रुपये का ब्याज नहीं चुकाने पर दिवालिया आदेश सुनाया। अब प्रमोद मितत्ल कह रहे हैं कि लेनदारों को उनके द्वारा दिए गए हर पाउंड के लिए 0.18 पैसे वापस लेकर एक समझौते पर सहमत हो जाना चाहिए।

लक्ष्मी मित्तल नहीं कर रहे मदद

इस बार प्रमोद मित्तल के बड़े भाई लक्ष्मी मित्तल उनकी मदद नहीं कर रहे हैं। इससे पहले जब धोखाधड़ी के एक मामले में फंसने के बाद मित्तल अपना कर्ज चुकाने में नाकाम रहे थे तो उस दौरान लक्ष्मी मित्तल ने दो बार जमानत की राशि भरकर प्रमोद मित्तल को बचाया था। दरअसल, प्रमोद मित्तल पर ब्रिटेन स्टेट ट्रेडिंग कॉरपोरेशन (STC) के 2,210 करोड़ रुपये का बकाया था। साथ ही GIKIL से संबंधित धोखाधड़ी के एक मामले में उन्हें 2019 में बोस्निया में गिरफ्तार किया गया था। उन पर 84 करोड़ रुपये के संदिग्ध निकासी का आरोप था। इस केस में प्रमोद को 92 करोड़ रुपये की जमानत राशि पर रिहा किया गया था।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

1 Comments

Income se jayda Spence nahi hona chahiye.

  • Guest
  • Oct 22 2020 10:59:40:310PM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार