सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

गुर्जर आरक्षण को लेकर महापंचायत ने राजस्थान सरकार को दी आंदोलन की धमकी

बैंसला ने कहा कि समाज एक नवंबर तक सरकार की कार्रवाई का इंतजार करेगा, उसके बाद भी अगर मांगों पर काम नहीं हुआ तो वह आंदोलन करेगा.

Abhishek Lohia
  • Oct 18 2020 8:16PM

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति ने शनिवार को बयाना में महापंचायत की और अपनी आरक्षण संबंधी मांगों को लेकर राजस्थान सरकार को एक नवंबर तक का वक्त दिया.

बयाना के अड्डा गांव में आयोजित महापंचायत में समिति के संयोजक और गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा, “हमने जो किया वो शक्ति प्रदर्शन था. मैं सरकार को चेतावनी दे रहा हूं. शनिवार को जितने लोग आए थे, उसके हिसाब से आंदोलन करना आसान था. लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए हमने सरकार को और समय देने का फैसला किया है.’’

बैंसला ने कहा कि समाज एक नवंबर तक सरकार की कार्रवाई का इंतजार करेगा, उसके बाद भी अगर मांगों पर काम नहीं हुआ तो वह आंदोलन करेगा.

गुर्जरों की इस महापंचायत को देखते हुए बयाना, भरतपुर में चौकसी बढ़ा दी गई थी और अधिकारियों को सचेत रहने को कहा गया था. कई इलाकों में इंटरनेट भी बंद कर दिया गया था.

समिति की प्रमुख मांगों में आरक्षण को केंद्र की नौवीं अनुसूची में शामिल करवाना, बैकलॉग की भर्तियां निकालने और प्रक्रियाधीन भर्तियों में पूरे पांच फीसदी आरक्षण का लाभ दिया जाना शामिल है.
न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राजस्थान सरकार ने 26 अक्टूबर, 2018 को एक विधेयक पास कराया था, जिसमें अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) कोटे को 21 फीसदी से बढ़ाकर 26 फीसदी किया गया था. दिसंबर 2018 में, राजस्थान सरकार ने गुर्जरों और चार अन्य पिछड़ी जातियों के लिए एक फीसदी आरक्षण को भी मंजूरी दी थी.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार