सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

"मुझे बचा लो, ये मुझे मार डालेंगे".. मुंबई में रह कर भी मोदी से गुहार लगा रहीं पायल घोष जबकि बाल भी बांका नहीं हुआ अनुराग कश्यप का

कोई भी तथाकथित मानवाधिकार वाला और नारी सम्मान का पहरेदार नही बोल रहा इस मामले में.

Rahul Pandey
  • Oct 11 2020 4:43PM

वो रहती तो मुंबई में है लेकिन गुहार भारत के प्रधानमन्त्री से लगा रही है. यद्दपि नियमनुसार उन्हें सबसे पहले याद स्थानीय पुलिस को करना था. पर शायद उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत के मामले से काफी कुछ सीख लिया है और अपनी गुहार मुंबई के बजाय दिल्ली लगा रही हैं. यहाँ बात यौन शोषण की शिकार पायल घोष की हो रही है.

ज्ञात हो कि bollywood के स्याह सच के रूप में जो पायल घोष ने बताया था उसके बाद ये लगा था कि नारी सम्मान और सुरक्षा के तमाम पैरोकार उनकी मदद करेंगे और हाथरस जैसा ही जोश वहां भी दिखायेगे, लेकिन जो सामने आया है उसके बाद न सिर्फ bollywood बेनकाब हुआ है बल्कि तमाम लिबरल और नकली चेहरों से नकाब उतरा है.

गौर करने योग्य है कि अपने वामपंथी सोच के लिए कुख्यात फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने वाली अभिनेत्री पायल घोष ने अब अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की है। पायल घोष ने ट्वीट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है। 

पायल ने पीएमओ, पीएम मोदी और राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा को टैग करते हुए ट्वीट किया। पायल ने लिखा, 'ये माफिया गैंग मुझे मार डालेंगे सर और मेरी मौत को आत्महत्या या कुछ और बता डालेंगे।' बता दें कि इससे पहले पायल ने अपने लिए वाई-सिक्योरिटी की डिमांड की थी। 

उस वक्त पायल ने कहा था कि जबसे उन्होंने अनुराग कश्यप के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी तभी से उन्हें और उनके वकील की जान को खतरा है। देखिये पायल घोष का वो ट्विट जिसमे उन्होंने अपनी जान को गंभीर खतरा बताते हुए भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी से ट्विट के माध्यम से गुहार लगाई है जिस पर उनके समर्थन में काफी लोग भी उतरे हैं.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार