सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

उत्तराखंड की रूडकी पुलिस ने किए तीन खुलासे

आज सीओ रूड़की चंदन सिंह बिष्ट ने तीन बड़े अलग अलग खुलासे किए हैं

Krishna Kumar
  • Oct 10 2020 3:48PM

उत्तराखंड की रूडकी पुलिस ने किए तीन खुलासे

आज सीओ रूड़की चंदन सिंह बिष्ट ने तीन बड़े अलग अलग खुलासे किए हैं

रूड़की सिविल लाइन कोतवाली में आज सीओ रूड़की चंदन सिंह बिष्ट ने तीन बड़े अलग अलग खुलासे किए हैं। पहले खुलासे में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सीओ चंदन सिंह बिष्ट ने बताया रामपुर डांडी निवासी व्यक्ति ने तहरीर देकर 3 मोबाईल और 3 हजार नकदी चोरी होने की जानकारी दी थी। मामले में मुकदमा दर्ज कर मामले के खुलासे की लिए पुलिस ने प्रयास शुरू किए थे। उपनिरीक्षक नितेश शर्मा इब्राहिमपुर में चेकिंग कर रहे थे तो उन्हें एक पल्सर मोटरसाइकिल पर तीन युवक आते दिखाई दिए। पुलिस को देखकर मोटरसाइकिल चालक पीछे की तरफ भागने लगा जिसे पुलिस ने पीछा करके पकड़ लिया। उन्होंने बताया कि वे लोग मोबाइल चोरी कर भगवानपुर स्थित दानिश को बेचते थे और दानिश उन्हें अन्य लोगों को सस्ते दामों में बेचता था। आरोपियों के पास से पुलिस ने अलग-अलग कंपनियों के 18 मोबाइल बरामद किए हैं और 2200 रुपए की नकदी बरामद की है।

वहीं दूसरे खुलासा करते हुए सीओ ने 251 रुपए में एंडरायड फोन का झांसा देकर लाखों की ठगी करने वाले आरोपी को साढ़े तीन साल बाद गिरफ्तार किया है।सीओ रुड़की चंदन सिंह बिष्ट ने बताया कि 2017 में हार्दिक टेलीकॉम के ऑनर ने बताया कि रिंगिंग बेल्स प्राइवेट लिमिटेड इंदिरापुरम गाजियाबाद के प्रबंध निदेशक मोहित गोयल द्वारा अपनी कंपनी से उत्पादित स्मार्टफोन 251 रुपए में देने का वायदा किया था और बताया गया था कि उत्पादित फोन प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया का हिस्सा है।अशोक कुमार ने इस फोन का ऑर्डर दे दिया जिसके एवज में कुछ चेक और नकदी के माध्यम से 3,21, 900 रुपए संबंधित कंपनी को दिए जिसकी एवज में कंपनी द्वारा एक बार 67470 रुपए तथा दूसरी बार 16786 रुपए का माल भेजा जो माल कंपनी द्वारा भेजा गया वह दूसरा माल था। इस बारे में जब कंपनी को बोला गया तो उन्होंने धमकी देते हुए माल बदलने से इनकार कर दिया। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर उस समय मुकदमा 4 लोगों के खिलाफ दर्ज किया था जिसमें दो ने उच्च न्यायालय से गिरफ्तारी पर स्टे ले लिया था। जबकि दो को गिरफ्तार किया था। चारों के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की थी। इसके साथ ही एक अभियुक्त की मृत्यु हो गयी थी और एक लगातार फरार चल रहा था। साढे तीन साल से पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी थी और उसके ऊपर 1500 रुपए का इनाम घोषित किया था।  पुलिस टीम द्वारा 9 अक्टूबर को अपराधी को लुधियाना से गिरफ्तार किया गया है।

साथ ही तीसरा खुलासा मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने गश्त के दौरान दो आरोपियों को दो सौ ग्राम स्मेक के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी बरेली से स्मेक लाकर बेचा करते थे। मामले का खुलासा करते हुए सीओ रुड़की चंदन सिंह बिष्ट ने बताया कि एक मुखबिर ने पुलिस को सूचना दी और बताया कि पल्सर बाइक पर सवार होकर बरेली उत्तर प्रदेश से दो लोग स्मेक लेकर रामपुर चुंगी तिराहे से भगवानपुर की ओर जा रहे हैं। पुलिस ने चेकिंग शुरू की तो एक मोटरसाइकिल उन्हें आती दिखाई गई जिसे रुकने का इशारा किया तो उसने भागने की कोशिश की पुलिस ने घेराबंदी कर बाइक सवारों को पकड़ लिया  जिसकी तलाशी लेने पर उसके पास से डेढ़ सौ ग्राम स्मेक, मोबाईल और 1400 रुपए की नकदी बरामद हुई और दूसरे व्यक्ति के पास से पुलिस ने 50 ग्राम स्मैक एक मोबाईल और 200 रुपए की नकदी बरामद हुई। आरोपियों ने बताया कि वह रामपुर मिलक उत्तरप्रदेश से छंगा नामक व्यक्ति से स्मेक लेकर आये हैं और यहां उसकी छोटी छोटी पुड़िया बनाकर बेच देते हैं इससे अच्छी खासी कमाई हो जाती है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार