सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे

Donation

देवराडा पहुंची मां नंदा की डोली,लोकजात यात्रा हुई पूरी

उत्तसव डोली आगले 6 महिनों तक सिद्धपीठ देवराड़ा में विराजमान रहेगी। देवराडा को मां नंदा का ननिहाल भी माना जाता है।

Krishna Kumar
  • Sep 1 2020 10:34PM

18 दिनों की यात्रा के बाद बधाण की राजराजेश्वरी नंदा देवी की उत्तसव डोली 19 वें दिन विधि-विधान के साथ नंदा सिद्धपीठ देवराड़ा-थराली के मंदिर में विराजमान हो गई हैं।इस मौके पर भारी संख्या में नंदा भक्तों ने नंदा की पूजा अर्चना कर मनौतियां मांगी।उत्तसव डोली आगले 6 महिनों तक सिद्धपीठ देवराड़ा में विराजमान रहेगी। देवराडा को मां नंदा का ननिहाल भी माना जाता है।

14 अगस्त को घाट ब्लाक के नंदा सिद्धपीठ कुरूड से शुरू हुई नंदा देवी की लोक जाता यात्रा 25 अगस्त को वेदनी बुग्याल पहुची थी जहां लोकजात  देवी पूजा के बाद उत्तसव डोली वापस लौट गई थी।जोकि देवाल एवं थराली ब्लाक के विभिन्न गांवों से होते हुए आज मंगलवार को सिद्धपीठ देवराड़ा गांव पहुंच जहां पर काफी देर तक नंदा भगवती के भक्तों ने नंदा की विधिवत पूजा अर्चना करने के साथ ही मनौतियां भी मांगी।

इस दौरान कई महिला, पुरूषों पर नंदा सहित अन्य देवी देवता अवतारित भी हुए।इन देवी-देवताओं के पशुवाहों ने नाचते हुए उपस्थित भक्तों को आशीर्वाद स्वरूप जौ,चावल, फूल सहित अन्य चीजें दी। इसके बाद नंदा देवी की ऐतिहासिक उत्तसव डोली को इस सिद्धपीठ के गर्भगृह में विराजमान करने की प्रक्रिया शुरू हुई। इसके बाद पंडितों के वेदों उच्चारण के बीच पारंपरिक तरीके से डोले को मंदिर में विराजमान करवाया गया।अगले 6 माह तक यही पर डोले की पूजा अर्चना संपन्न होती रहेगी।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार