सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

मस्जिद के बगल में रहता था पंकज ..... इश्तियाक मियां सहित तीन ने पीट-पीट कर मार डाला

पंकज को बेहद मामूली कहासुनी के चलते मारा गया। बुरी तरह से घायल पंकज चौधरी को पहले तोपरा अस्पताल में भर्ती करवाया गया। हालत गंभीर होने पर रांची के रिम्स अस्पताल रेफर किया गया। रविवार की सुबह रिम्स अस्पाल ने उन्होंने दम तोड़ दिया। मौत की वजह आंतरिक चोटें और अधिक खून बह जाना बताया गया है।

Prem Kashyap Mishra
  • Oct 25 2021 3:19PM

झारखंड से एक ऐसी घटना सामने आई है जिसको जानने के बाद आप जरूर सोच में पड़ जाएंगे। कहा गया है 100 हिन्दुओं के बीच एक मुस्लमान रह सकता लेकिन 100 मुसलमानों के बीच 1 हिन्दू नहीं। अभी तक तो यह सिर्फ बातों में कही जा रही थी। लेकिन इस घटना को जानने के बाद यह कथनी सत्य प्रतीत लगेगी आपको। झारखंड के जिला खूँटी में 45 वर्षीय हिन्दू पंकज चौधरी नाम की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। घटना खूँटी जिले के तपकारा थानाक्षेत्र की है।

शनिवार  की रात इसे अंजाम दिया गया। पंकज को बेहद मामूली कहासुनी के चलते मारा गया।  बुरी तरह से घायल पंकज चौधरी को पहले तोपरा अस्पताल में भर्ती करवाया गया। हालत गंभीर होने पर रांची के रिम्स अस्पताल रेफर किया गया। रविवार की सुबह रिम्स अस्पाल ने उन्होंने दम तोड़ दिया। मौत की वजह आंतरिक चोटें और अधिक खून बह जाना बताया गया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में नामजद तहरीर थाना तपकारा में दी गई है। तहरीर के आधार पर इश्तियाक मियाँ उर्फ़ ताजो, नाज़िर अंसारी और सुहैल आलम को गिरफ्तार कर लिया गया है। तहरीर पंकज की पत्नी की तरफ से दी गई है। हमलवारों ने इस घटना को पुलिस थाने से मात्र 50 मीटर की दूरी पर अंजाम दिया था।

पंकज चौधरी को मेलाटांड इलाके में घेर कर मारा गया। वह परिवार में कमाने वाला एकलौता सदस्य था। पंकज लकड़ी मिस्त्री का काम कर परिवार का पेट पालता था। वह अपने परिवार के साथ तपकारा मस्जिद के बगल रहता था। उसके दोनों बेटे सत्यम और सूरज दिव्यांग हैं। पंकज की एक बेटी भी है, जिसका नाम शिवानी है। वह कक्षा 9 में पढ़ती है।

पंकज की मौत की खबर फैलते ही स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए। भीड़ ने तपकरा थाने पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। घटना की सूचना पर भारतीय जनता पार्टी के तोरपा विधायक कोचे मुंडा भी पहुँचे। उनकी मौजूदगी में अधिकारियों ने पंकज के परिवार को 20 हजार रुपये की सहायता दी। 

विधायक मुंडा ने पुलिस से निष्पक्ष जाँच करवाने की माँग की। पुलिस ने भी आरोपितों को कड़ी सज़ा दिलाने का आश्वासन दिया। स्थानीय लोगों ने पीड़ित परिवार के बच्चों को दिव्यांग पेंशन, पत्नी को विधवा पेंशन और आवास देने की माँग की। स्थिति को सामान्य करने के लिए पुलिस ने इलाके में फ्लैग मार्च भी किया है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार