सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

भारतमाता की जय बोलने से मुस्लिम छात्रों का इंकार... हिंदू छात्रों ने जताई आपत्ति तो घेरकर की पिटाई

स्कूल में मंगलवार को प्रार्थना के दौरान भारत माता की जय नहीं बोलने को लेकर अलग-अलग समुदाय के विद्यार्थियों में झगड़ा हो गया था। इसके बाद इस्लाम समुदाय के लोगों ने दूसरे पक्ष पर लाठियों से हमला कर दिया था। इसमें एक छात्र सहित कुछ राहगीर घायल हो गए थे। विवाद के बाद मंगलवार को बड़ौद में तनावपूर्ण हालात बन गए थे। अब धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं।

Prem Kashyap Mishra
  • Oct 14 2021 7:16PM

भारत में रहकर भारत माता की जय बोलने से परेशानी ऐसी ही एक घटना घटी है जिसको सुनकर आप भी चौंक जाएंगे जिस मातृभूमि में हम रहते है क्या उसका जय जयकार नहीं कर सकते आपको बता दे निजी स्कूल में मंगलवार को प्रार्थना के दौरान भारत माता की जय नहीं बोलने को लेकर अलग-अलग समुदाय के विद्यार्थियों में झगड़ा हो गया था। इसके बाद इस्लाम समुदाय के लोगों ने दूसरे पक्ष पर लाठियों से हमला कर दिया था। इसमें एक छात्र सहित कुछ राहगीर घायल हो गए थे। विवाद के बाद मंगलवार को बड़ौद में तनावपूर्ण हालात बन गए थे। अब धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं।

पुलिस ने इस मामले में बताया कि प्रार्थना के दौरान स्कूल में राष्ट्रगान होता है, अंत में ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए जाते हैं। इस दौरान कुछ मुस्लिम बच्चे भारत माता की जय नहीं बोल रहे थे। इसको लेकर कक्षा 12वीं के छात्र भरत सिंह राजपूत (19) ने विरोध किया, जिसके चलते यह विवाद हुआ। अधिकारी ने जानकारी दी कि, भरत सिंह ने पुलिस में शिकायत दी कि जब वह मंगलवार को बाकी छात्रों के साथ स्कूल से घर जा रहा था तो रास्ते में उसे और एक शिक्षक को रोककर पीटा गया।

साथ ही कहा कि भारत माता क्या होती है, तुम भारत माता की जय बुलवाने वाले कौन होते हो, साथ ही जान से मारने की धमकी दी। बड़ौद थाना प्रभारी विवेक कनोडिया ने बताया कि मामले में पुलिस ने भारतसिंह की शिकायत पर ताहिर, अजहर, शकील, पिंटू, शौफी , राजा सहित अन्य लोगों पर अलग अलग धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार