सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

राकेश अस्थाना बने दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर

सीबीआई एसपी रहते हुए चारा घोटाले की जांच उनके नेतृत्व में की गई थी। सीबीआई में रहते हुए तत्कालीन निदेशक आलोक वर्मा के साथ हुए विवाद के बाद राकेश अस्थाना चर्चा में आए थे। इसके बाद उन्हें नागरिक उड्डयन सुरक्षा और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के महानिदेशक पद पर नियुक्त किया गया था।

Sudarshan News
  • Jul 27 2021 11:39PM
सीबीआई के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस का नया कमिश्नर नियुक्त किया गया है। गृह मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि अस्थाना का कार्यकाल एक साल का होगा। 1984 बैच के गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी अस्थाना बीएसएफ के महानिदेशक की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। वह 31 जुलाई को सेवानिवृत्त होने वाले थे। अस्थाना सीबीआई के संयुक्त निदेशक भी रह चुके हैं। 

सीबीआई एसपी रहते हुए चारा घोटाले की जांच उनके नेतृत्व में की गई थी। सीबीआई में रहते हुए तत्कालीन निदेशक आलोक वर्मा के साथ हुए विवाद के बाद राकेश अस्थाना चर्चा में आए थे। इसके बाद उन्हें नागरिक उड्डयन सुरक्षा और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के महानिदेशक पद पर नियुक्त किया गया था।

ऐसा बहुत कम देखा गया है कि जब एजीएमयूटी कैडर के बाहर से किसी आईपीएस अधिकारी को दिल्ली पुलिस का प्रमुख चुना गया हो। आमतौर पर अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम और केंद्र शासित प्रदेश (एजीएमयूटी) कैडर से संबंधित अधिकारी को इस पद पर नियुक्त किया जाता है। पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव के सेवानिवृत्त के बाद वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी बालाजी श्रीवास्तव ने हाल ही में दिल्ली पुलिस आयुक्त का अतिरिक्त कार्यभार संभाला था।

संयुक्त बिहार में चारा घोटाले से संबंधित मामले की जांच में भी राकेश अस्थाना की अहम भूमिका रही थी। सीबीआई एसपी रहते हुए चारा घोटाले की जांच उनके नेतृत्व में की गई थी। चारा घोटाले की जांच के शुरुआती दिनों में धनबाद में सीबीआई के एसपी पद पर पोस्टेड थे और मामले की जांच कर रहे थे। ये दौर लालू यादव के बुलंदियों का दौर था। मामले की जांच के बाद अस्थाना ने लालू प्रसाद यादव के खिलाफ 1996 में चार्जशीट दायर की। 1997 में लालू यादव पहली बार गिरफ्तार हुए थे।

सीबीआई में रहते हुए तत्कालीन निदेशक आलोक वर्मा के साथ हुए विवाद के बाद राकेश अस्थाना एक बार फिर से चर्चा में आए थे, जिसके बाद उनका तबादला सीबीआई से कर दिया गया था। राकेश अस्थाना डीजी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अतिरिक्त प्रभार में भी थे।

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार