सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

अमेरिकी विदेश मंत्री अगले हफ्ते करेंगे भारत का दौरा

अमेरिका की बागडोर बाइडन प्रशासन के हाथ में आने के बाद यह पहला मौका होगा जब ब्लिंकन भारत यात्रा पर होंगे. सूत्रों के मुताबिक अमेरिकी विदेश मंत्री का यह दौरा अगले सप्ताह के मध्य में होना है. वहीं इसे संयोग कहें या राजनयिक टाइमिंग, लेकिन जिस वक्त ब्लिंकन भारत में होंगे उसी दौरान अफ़ग़ानिस्तान के सेना प्रमुख जनरल वली मोहम्मद अहमदज़ई भी नई दिल्ली में होंगे.

Sudarshan News
  • Jul 21 2021 11:24PM

अफ़ग़ानिस्तान में बढ़ते तालिबानी हौसलों और नाज़ुक होते हालात के मद्देनज़र दक्षिण एशिया में कूटनीतिक कवायदें तेज़ हैं. इस कड़ी में भारत के साथ राय मशविरा करने के लिए अमेरिकी विदेशमंत्री एंटोनी ब्लिंकन अगले सप्ताह भारत आ रहे हैं.

अमेरिका की बागडोर बाइडन प्रशासन के हाथ में आने के बाद यह पहला मौका होगा जब ब्लिंकन भारत यात्रा पर होंगे. सूत्रों के मुताबिक अमेरिकी विदेश मंत्री का यह दौरा अगले सप्ताह के मध्य में होना है. वहीं इसे संयोग कहें या राजनयिक टाइमिंग, लेकिन जिस वक्त ब्लिंकन भारत में होंगे उसी दौरान अफ़ग़ानिस्तान के सेना प्रमुख जनरल वली मोहम्मद अहमदज़ई भी नई दिल्ली में होंगे.

कई मुद्दों पर होगी बातचीत
सूत्रों के मुताबिक अमेरिकी विदेश मंत्री के तौर पर ब्लिंकन की इस पहली यात्रा के दौरान ज़ाहिर तौर पर अफ़ग़ानिस्तान के ताजा हालात और उन्हें संभालने के लिए क्षेत्रीय प्रयासों को लेकर बात होगी. साथ ही दोनों देशों के बीच कोरोना संकट से लेकर हिन्द-प्रशांत इलाके की चुनौतियों पर चर्चा भी बातचीत के एजेंडे में शामिल होगी.

सूत्रों के अनुसार ब्लिंकन अपनी इस छोटी और कामकाजी भारत यात्रा में जहां विदेशमंत्री डॉ एस जयशंकर के साथ द्विपक्षीय बातचीत करेंगे. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी उनकी शिष्टाचार भेंट का कार्यक्रम है.

अमेरिकी विदेश सचिव का यह दौरा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अगले माह से भारत के पास आने वाली अध्यक्षता के पहले रायशुमारी की कवायद के तौर पर भी देखा जा रहा है. महत्वपूर्ण है कि अगस्त 2021में संयुक्त राष्ट्र संघ के इस सबसे शक्तिशाली मंच की अगुवाई भारत के पास होगी. ऐसे में महत्वपूर्ण मुद्दों पर बहस आयोजित करने में भारत का फैसला अहम होगा. गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन सत्ता संभालने के शुरुआती 8 महीनों में ही पहले अपने रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और अब विदेश मंत्री ब्लिंकन को भेज चुके हैं.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार