सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

कोरोना वायरस क्या हवा में भी फैलता है ?,WHO ने कही ये बड़ी बात !

विश्व मे कोरोना के बढ़ते आंकड़ो के बीच क्या इस बयान से लोगो मे मच सकती है खलबली

Namit Tyagi ,twiter: @NamitTyagi1
  • Jul 8 2020 12:45PM
कोरोना का संकट लगातार पूरी दुनिया मे फैलता ही जा रहा है फिलहाल कोई भी देश इस बीमारी से पीछा नही छूट पा रहा है भारत में भी पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है और उसे देखते हुए लोगों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। दुनिया के कई डॉक्टरों और वैज्ञानिकों के द्वारा इस बात पर लगातार सहमति जताने की बात की जा रही थी कि कोरोना वायरस का संक्रमण शायद हवा के जरिए भी फैल रहा है। पहले WHO इस बात को मानने से इनकार कर रहा था लेकिन कुछ विशेष मामलों और इस बात के सबूतों की पुष्टि करने के बाद अब उसने इस बारे में नया बयान जारी किया है, जो देश की जनता को जानना बहुत जरूरी है कोरोना वायरस को लेकर हाल ही में 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने चौंकाने वाले दावे किए। वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस हवा के जरिए भी फैलता है। इसे लेकर वैज्ञानिकों ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को पत्र भी लिखा है। अब इस पर WHO ने अपनी प्रतिक्रिया दी है

क्या था वैज्ञानिकों का दावा? 
कोरोना वायरस को लेकर अपनी रिसर्च में 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने पाया कि कोरोना वायरस के छोटे छोटे कण हवा में जिंदा रहते हैं और लोगों को संक्रमित करते हैं। वैज्ञानिकों ने दावा किया कि वायरस का संक्रमण हवा के जरिए भी फैल रहा है। इतना ही नहीं WHO से वैज्ञानिकों ने अपील की है कि वायरस की (गाइडलाइन) में बदलाव किया जाए।

क्या कहा WHO ने?
WHO का मानना है कि यह वायरस थूक के कणों से ही फैलता है। ये कण कफ, छींक और बोलते वक्त ही शरीर से बाहर निकल दूसरे व्यक्ति में दाखिल होते हैं। थूक के कण इतने हल्के नहीं होते कि वे हवा में फैल जाएं। इसलिए ये जमीन में ही गिर जाते हैं। हालांकि, इन वैज्ञानिकों के दावे पर WHO ने कहा है कि रिसर्च का रिव्यू किया जा रहा है। WHO के प्रवक्ता तारिक जेसरेविक ने कहा, हमें लेटर और रिपोर्ट मिली है। एक्सपर्ट के साथ उनका रिव्यू किया जा रहा है। हवा में मौजूद कणों से कोरोना वायरस कितनी तेजी से फैलता है, यह अब तक स्पष्ट नहीं है। WHO संक्रमण का रूट समझने की कोशिश कर रहा है। हम आश्वस्त नहीं हैं कि गाइडलाइन में बदलाव होना चाहिए। 

कुछ खास स्थितियों में हवा से फैलता है कोरोना
हालांकि WHO ने ये भी कहा, कि कुछ खास परिस्थितियों में कोरोना का संक्रमण फैलता है। मरीज को ट्यूब लगाते वक्त यह फैल सकता है। स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 29 जून को जारी गाइडलाइन में WHO ने कहा था, कोरोना नाक और मुंह से निकले ड्रॉप्लेट्स से फैलता है। सतह पर मौजूद वायरस से भी संक्रमण हो सकता है।अब सवाल ये उठता है कि अगर कोरोना हवा में फैलने शुरू हो गया तो ये महामारी कितना खतरनाक रुप ले लेगी इसका अंदाज़ा भी किसी को नही होगा क्योंकि जिस तरह से पूरे विश्व मे कोरोना के आंकड़े लगातार बढ़ रहे है और अभी तक कोई भी देश इसकी वैक्सीन नही बना सका है इससे कोरोना का संकट लगातार  बढ़ता ही जा रहा है


 



ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार