सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

राजस्थान में अब तेरहवीं संस्कार में नहीं करा सकते भोज. करवाया तो कांग्रेस सरकार खाने खिलाने वाले सबको भेजेगी जेल

कांग्रेस के मुख्यमंत्री अशोक ने दिया एक बड़ा आदेश जिसके बाद बदलने जा रहे कई नियम कानून.

Rahul Pandey
  • Jul 8 2020 11:12AM
हिंदू धर्म की किसी परंपरा को चलने या चलाने का पूरा भार अब तक हिंदू साधु संतों व धर्म आचार्यों को रहा है। हिंदुओं के मठ और मंदिर यह तय करते थे कि किस परंपरा का आरंभ और किस परंपरा का समापन किस तिथि किस मुहूर्त किस समय के अनुसार किया जाना है। लेकिन हिंदुओं की एक परंपरा को राजस्थान की सरकार ने शासकीय नियमों को लगाकर प्रतिबंधित किया है और मृत्यु उपरांत होने वाले तेरहवीं संस्कार भोज पर प्रभावी रोक लगा दी है। अब राजस्थान में मृत्युभोज अधिनियम 1960 का कानून लागू कर दिया गया है और यह कानून इतनी सख्ती से लागू कर दिया गया है कि अब कहीं भी तेरा हुए भोज आयोजित करने वाले ना सिर्फ मृतक के परिवार बल्कि उस भोज को खाने वाले कानून दंड के भागी होंगे।।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मृत्यु भोज अर्थात तेरहवीं संस्कार को एक कुप्रथा घोषित किया है और इस पर इतने सख्त नियम बनाए हैं कि अब किसी भी प्रकार से मृत्यु भोज आयोजित करने वाले क्षेत्र के प्रधान और पटवारी भी यदि पुलिस को सूचना नहीं देते तो वह कानूनी अपराध की श्रेणी में आएंगे। यहां ध्यान रखने योग्य भी है कि राजस्थान सरकार मैं पिछली भाजपा की सरकार सवर्णों के आक्रोश के चलते काफी नुकसान उठाई थी और वसुंधरा सरकार ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश सरकार में भाजपा की हार का कारण सवर्ण हिंदुओं का नाराज होना बना था।

मृत्यु भोज अमूमन हिंदुओं की तेरहवीं संस्कार का एक हिस्सा था। बच्चे के जन्म के समय अभी भी अधिकांश हिंदुओं में 12वीं संस्कार आयोजित किया जाता है और मृत्यु के उपरांत तेरहवीं संस्कार भी लागू होते हैं। कुल मिलाकर के यह एक लंबे समय से चली आ रही परंपरा का कानूनी रूप से समापन राजस्थान प्रदेश में होगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने इस निर्णय पर पूरी तरीके से दृढ़ नजर आ रहे हैं और शासन द्वारा जारी सख्त निर्देशों को जिला स्तर क्षेत्र स्तर के प्रशासनिक अधिकारियों को बताया जा चुका है जिसका सख्ती से पालन कराने के स्पष्ट निर्देश जारी हो चुके हैं।

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

16 Comments

कांग्रेस सरकार सारे कानून हिंदुओं पर ही लागू क्यों करती है पहले घुंघट प्रथा अब मृत्यु भोज घुंघट प्रथा के बारे में तो बोल सकते हो बुर्के के बारे मौन यह सरकार हिंदू विरोधी है

  • Guest
  • Jul 10 2020 9:43:21:057PM

राजस्थान सरकार द्वारा किसी एक धर्म को खुश करने का गंदा खेल खेला जा रहा है, ये पूर्ण रूप से हिंदुओं की धार्मिक आजादी का हनन है

  • Guest
  • Jul 10 2020 11:36:28:737AM

कुछ हरामी के औलाद बहुत खुश है👇 ग़ज़ब! पाकिस्तान की तरह राजस्थान में अब हिंदुओं के तेरहवीं संस्कार में "भोज" बैन। सरकार का तुगलकी आदेश, भोज करवाया तो कांग्रेस सरकार खाने खिलाने वाले सबको भेजेगी जेल। क्या चर्च के प्रभाव में हुआ है हिंदुओं के अन्नदान के पवित्र परंपरा पर हमला?⁩?? हिन्दू विरोधी कांग्रेस सरकार का अभी यह एक प्रयोग है -- हिन्दू अभी wait करो -- कांग्रेस तुम्हारी सनातन संस्कृति को ही बैन करेगी ... जागो हिन्दुओ जागो .....

  • Guest
  • Jul 10 2020 11:30:56:170AM

मनुष्य किसी भी धर्म का हो हिन्दु मुस्लिम सिक्ख अन्य धर्म...... हिन्दु धर्म में तेरहवीं का कर्म/मुण्डन या अन्य संस्कार/विवाह या अन्य पार्टी में कांग्रेस कि अशोक सरकार अपना चेहरा या अपना महल/औकात देखने को अपना सगे संबंधियों रिस्तेदारो दोस्तों को बुलाएंगे? इस प्रकार के कर्म करने या कराने वाले मनुष्य नहीं है जानवर से भी बदतर है। यह तो मनुष्य के नाम पर कलंक है। भगवान के आगे चढ़ाया जाने वाले भोग के लिए भी कानून बना डालो जिससे भोग लगाने वाले भी जेल जाए क्योंकि मनुष्य तुम्हारे बाप की कमाई उड़ाते हैं न?...... कांग्रेस कि अशोक तुम जनता का पैसा लुटो क्योंकि मरने के बाद तुम्हें तुम्हारा पुत्र पैसा से जला सके?....... हमारे देश के देश बन्धु दोस्तों जागो ........ भारत माता कि जय........ जय जय श्री राम............ जय हिन्द जय भारत........

  • Guest
  • Jul 9 2020 1:07:53:090PM

हिंदू विरोधी पक्ष

  • Guest
  • Jul 9 2020 9:38:39:957AM

Kisi ko jabarjusti 13vi manane k liye Kabhi Kisi ne mazboor Nahi kiya,,aur jo sanatan dharm ke riti rivaj ka palan karte hue 13vi manata h,,woh uski marzi h,,, kyonki woh apne mehnat ki kamai se Logo ko khilakar 13vi manata h.. Kisi ke baap ki kamai se nahi manata h,phir ye Congress ke netao ko hamare sanatan dharm se har baar koi pareshani kyon Hoti h,,,ye hinduo Ka desh h,, Kisi neta ki jagir Nahi h,,, main is kanoon ko bilkul bhi Nahi manta.

  • Guest
  • Jul 8 2020 11:45:17:140PM

Kisi ko jabarjusti 13vi manane k liye Kabhi Kisi ne mazboor Nahi kiya,,aur jo sanatan dharm ke riti rivaj ka palan karte hue 13vi manata h,,woh uski marzi h,,, kyonki woh apne mehnat ki kamai se Logo ko khilakar 13vi manata h.. Kisi ke baap ki kamai se nahi manata h,phir ye Congress ke netao ko hamare sanatan dharm se har baar koi pareshani kyon Hoti h,,,ye hinduo Ka desh h,, Kisi neta ki jagir Nahi h,,, main is kanoon ko bilkul bhi Nahi manta.

  • Guest
  • Jul 8 2020 11:42:15:960PM

kya hoga unn becharo ka , jo teherwi ke naam par kha rahe the...kahi mazdoori aur mehnat ke kaam karne padege.

  • Guest
  • Jul 8 2020 10:23:10:757PM

Are bhai bht acha kam kiya he Me ek hindu hu or mere mayne me ye kadam bht hi sarahniya he me iska swagat krta hu

  • Guest
  • Jul 8 2020 6:28:48:307PM

ये कांग्रेस सरकार भारतीय को संस्कृति को बर्बाद करके ग़ैर भारतीय संस्कृति कि स्थापना करने चाहतीं हैं । कांग्रेस हमेशा हिन्दू विरोधी रहीं हैं ।

  • Guest
  • Jul 8 2020 4:45:20:363PM

Kya 13 va k shat my mulo ka 40 va bhi band hva...

  • Guest
  • Jul 8 2020 4:40:47:060PM

Pahli bar Congress ne badhiya kam Kiya hai

  • Guest
  • Jul 8 2020 3:01:49:077PM

Good

  • Guest
  • Jul 8 2020 3:01:15:740PM

ये आम जनता का खुद का फैसला हैं सरकार को दखलंदाजी नहीं करनी चाहिए जिसकी इच्छा हो वो सनातन परंपरा को लेकर चले या ना चले ये परिवार के वरिष्ठ लोगों को सोचना होगा सरकार को नहीं मैं इसका सर्मथन नहीं करता हूँ

  • Guest
  • Jul 8 2020 2:53:56:560PM

यह ऐक सामाजिक बुराई थी जिसे खत्म किया जाना चाहिए था जिस गरीब के घर मे मृत्यु होती है वो नुकता करने के लिए अर्थात लोगो को जीमाने के लिए कर्ज लेता था और फिर जीवन भर उसका चुकाता रहता था मै सरकार के ईस फैसले का स्वागत करता हूँ

  • Guest
  • Jul 8 2020 2:47:18:190PM

He's lying face down on the ground and digging, hoping to revive INC chances of winning by appeasement, little does he know, he's digging a deeper grave for himself and INC.

  • Guest
  • Jul 8 2020 11:23:38:770AM

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार