सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

चिराग पासवान का एक्शन, चाचा-भाई समेत पांचों सांसदों को पार्टी से निकाला

तख्तापलट के खेल के बीच चिराग पासवान ने बतौर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई. इस बैठक में एलजेपी के पांचों बागी सांसदों को पार्टी से निकालने का फैसला लिया गया है.

Sudarshan News
  • Jun 15 2021 5:53PM
एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने पार्टी के सभी बागी सांसदों को एलजेपी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में ये फैसला लिया गया है. फैसले के अनुसार पशुपति पारस, प्रिंस राज, वीणा देवी, महबूब अली कैसर और चंदन सिंह को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने की वजह से पार्टी की सक्रिय सदस्यता से निलंबित कर दिया है. इस फैसले के बाद वे पार्टी में किसी भी तरह के फैसले लेने के अधिकारी नहीं होंगे.

बगावत से नाराज चिराग ने लिया एक्शन

मालूम हो कि एलजेपी में टूट के बाद सभी ये सोच रहे थे कि अब चिराग पासवान का क्या होगा? चिराग आगे क्या फैसला लेंगे? खासकर एलजेपी के सांसद पशुपति पारस के घर के बाहर से जो तस्वीरें सामने आईं थीं, उसने इस सवाल को और गहरा और महत्वपूर्ण बना दिया था. हालांकि, चाचा समेत अन्य सांसदों की बगावत से नाराज चिराग ने सबके खिलाफ एक्शन लिया है. 

पशुपति पारस के घर का चक्कर काट रहे थे चिराग


बता दें कि तख्तापलट के खेल के बीच चिराग पासवान ने बतौर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई. इस बैठक में एलजेपी के पांचों बागी सांसदों को पार्टी से निकालने का फैसला लिया गया है. बता दें कि एलजेपी में टूट के खबरों के बीच चिराग कल से लगातार अपने चाचा पशुपति पारस के घर का चक्कर काट रहे थे, लेकिन चाचा उनसे मुलाकात करने को तैयार नहीं थे. ऐसे में अपने शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए चिराग ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी के साथ बैठक कर ये फैसला लिया है.

सहयोग करें

हम देशहित के मुद्दों को आप लोगों के सामने मजबूती से रखते हैं। जिसके कारण विरोधी और देश द्रोही ताकत हमें और हमारे संस्थान को आर्थिक हानी पहुँचाने में लगे रहते हैं। देश विरोधी ताकतों से लड़ने के लिए हमारे हाथ को मजबूत करें। ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहयोग करें।
Pay

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार