सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सहयोग करे

Donation

Facebook /OLX एवं PAYTM के माध्यम से पैसों को ठगने वाले शाकिर और इस्रयाल गिरफ्तार

लगातार मिल रही थी शिकायतें इसलिए सतर्क था साइबर सेल.

Sudarshan News
  • Apr 18 2020 4:01PM

जहाँ देश और देशवासी कोरोना से बने वर्तमान हालातों में एक दूसरे के साथ सामंजस्य बना कर एक दूसरे की अधिकतम मदद कर रहे है तो वही इस विकट परिस्थिति में भी कुछ ऐसे भी हैं जो अपनी हरकतों से बाज नही आ रहे हैं. यद्दपि कोरोना से देशवासियों को बचा कर सबका दिल जीत चुकी पुलिस बल जमीन से इंटरनेट तक किस प्रकार से सक्रिय है इसका शानदार उदहारण प्रस्तुत किया है उत्तर प्रदेश की बहराइच पुलिस ने. यहाँ पर पुलिस के साइबर सेल ने लगातार नजर रखते हुए ऑनलाइन ठगी के एक गिरोह को ध्वस्त करते हुए इसमें शामिल 2 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया है. 


बहराइच पुलिस के अनुसार SP बहराइच डा0 विपिन कुमार मिश्राको शिकायते प्राप्त हो रही थी कि फेसबुक/OLX पर पेटीएम के माध्यम से पैसों की ठगीकी जा रही थी जिस पर पुलिस अधीक्षक द्वारा साइबर सेल को साइबर अपराधों पर प्रभावीनियंत्रण हेतु निर्देशित किया गया था, जिस पर प्रभारी निरी0 साइबर सेल श्रीनिखिल श्रीवास्तव व टीम द्वारा लगातार सतर्क दृष्टी रखी जा रही थी.. इसी के चलते दिनांक 18:04:2020 को साइबर सेल व कोतवाली देहात की संयुक्त टीम द्वारा फेसबुक/ OLX एवं पेटीएम केमाध्यम से पैसों की ठगी करने वाले दो अभियुक्त शाकिर पुत्र सूबेदार निवासी डहरखोहथाना खोह जिला भरतपुर राजस्थान तथा इसराइल पुत्र आसिम खां निवासी मिट्ठूपुरा थानासीकरी जिला भरतपुर राजस्थान को गल्ला मंडी चौराहे पर भिनगा की ओर जाने वाली रोड परगिरफ्तार किया गया.


इन दोनों अभियुक्तों के पास से दो मोबाइल फोन व कुल 83000 रूपये नकद बरामद किये गये हैंजिसमे से थाना कोतवाली देहात बहराइच के दो अभियोगों - 164/20 से संबन्धित कुल रुपये 15000 तथा 176/20 से संबन्धित कुलरुपये 26000/-, थाना पयागपुर के अभियोग संख्या 09/20 से संबन्धित 12000/- तथा को0 नानापारा के अभियोगसंख्या 188/20 से संबन्धित कुल रुपये 30000/-  बरामद हुए है. इन दोनों की जनपद के कुल 05 अभियोगो में संलिप्तता पाई गयी है. पुलिस पूछताछ में अभियुक्तो द्वारा बतायागया कि ये फेसबुक पासवर्ड को ब्रेक कर उनके संपर्कों से पैसे मांगते थे तथाइस्राइल द्वारा दिए गए पेटीएम नंबर पर पैसे डलवा लेता था जिसे इसराइल पेटीएम केएटीएम कार्ड से पैसे निकाल कर अपना हिस्सा काटकर  शाकिर को वापस कर देता था.


शाकिर ने पूछताछ में बताया कि वह अलवरके आईटी कॉलेज से बीसीए फर्स्ट ईयर का ड्राप आउट है यह लोग साधारण व्यक्तियों केमोबाइल नंबर को अपना पासवर्ड बना लेने की आदत का फायदा उठाते थे, किसी भी मोबाइलनंबर की एक सीरीज को उठा लेते थे उसे फेसबुक के यूजर नेम और पासवर्ड में डाल देतेथे अगर खुल गया तो उसके संपर्कों से फेसबुक मैसेंजर के माध्यम से स्वयं को अत्यंतआवश्यकता में रहने व पैसे की आवश्यकता को बताकर PAYTM / Google पे आदि का अकाउंटनंबर दे देते थे. फेसबुक पर मित्रों द्वारा सहायता मांगे जाने पर कुछ लोग बिनाफोन पर अपने मित्र से प्रत्यक्ष बात किए ही बताए गए नंबर पर पेटीएम या गूगल पे परपैसे ट्रांसफर कर देते थे.


इसराइल ने भी पूछताछ में बताया किउसका काम इन लोगों को पेटीएम के अकाउंट नंबर  देना व इनके द्वारा उन अकाउंट नंबरोंमें डलवाए गए पैसे को निकाल अपना हिस्सा काटकर इन लोगों को वापस करना भी था । उसकेद्वारा पूर्व में मोबाइल की दुकान व जन सेवा केंद्र चलाया जा चुका है जिससे उसेमोबाइल की जानकारी व  आधार का डेटाबेस उसके पास है  जिससे फर्जी PAYTM / गूगल पे/ Bank एकाउन्ट आदि खोलनें व उसके संचालन में उसे आसानी होती थी.

गिरफ्तार अभियुक्त का नाम पताः- 


1- शाकिर पुत्र सूबेदार निवासी डहरखोहथाना खोह जिला भरतपुर राजस्थान ।

2- इसराइल पुत्र आसीन खाँ निवासी मिट्ठूपूरा थाना सीकरी जिला भरतपुर राजस्थान ।

 

इन दोनों को गिरफ्तार करने वाली टीम निम्नलिखित है -

साइबर टीम- 

प्रभारी निरीक्षक श्री निखिलश्रीवास्तव

उप निरीक्षक श्री राघवेंद्र प्रतापसिंह 

आरक्षी प्रदीप गंगवार

आरक्षी नीरज सिंह 

कोतवाली देहात

निरीक्षक अपराध नवीन कुमार मिश्रा

आरक्षी धनंजय यादव

 

उक्त सराहनीय कार्य के लिए SP बहराइच द्वारा टीम को रु -10000 /- से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

 

ताज़ा खबरों की अपडेट अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करे सुदर्शन न्यूज़ का मोबाइल एप्प

0 Comments

संबंधि‍त ख़बरें

ताजा समाचार